2019 लोकसभा चुनाव के लिए कल हुंकार भरेंगे शिवपाल, पोस्टर-बैनर में मुलायम को जगह नहीं

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में जनाक्रोश रैली के जरिये अपना दमखम दिखाएंगे कल शिवपाल, भतीजे अखिलेश यादव से अनबन के चलते सपा से दूरी बना चुके शिवपाल रैली के जरिये विरोधियों को ना सिर्फ अपनी ताकत का अहसास कराएंगे बल्कि अपने नये नवेले दल प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) को 2019 लोकसभा चुनाव के लिये हुंकार भरेंगे। दिया ‘हैं तैयार हम’ स्लोगन शिवपाल की जनाक्रोश रैली के लिए बॉलीवुड फिल्म सत्ते पे सत्ता के गीत की पंक्तियां ‘हैं तैयार हम’ को रैली के एक प्रमुख स्लोगन के तौर पर शामिल किया गया है। शिवपाल को जननायक के तौर पर दिखाने का प्रयास कर रहे ज्यादातर पोस्टरों में विभिन्न स्लोगनों के जरिये समर्थकों का उत्साहवर्धन किया गया है। सूत्रों के अनुसार, शिवपाल के लिए यह रैली प्रतिष्ठा का सवाल है। उनके समर्थक खासे उत्साहित हैं। शिवपाल की रैली को लेकर समर्थकों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। रैली को ऐतिहासिक बनाने को लेकर पोस्टरों और बैनरों से लखनऊ के चौराहे पटे हुये हैं। यहां दिलचस्प है कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तस्वीर को ज्यादातर बैनरों पोस्टरों पर जगह नहीं दी गई है जबकि शिवपाल अपनी लगभग हर सभा में ‘मुलायम’ को पार्टी का सर्वेसर्वा बताने का दावा करते रहे हैं।”चाचा तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है” जैसे नारे भी उसी दिन से लगने लगे थे जब शिवपाल ने सपा से अलग राह चुनते हुये समाजवादी सेकुलर मोर्चा का गठन किया था। पोस्टरों में शिवपाल के चित्र के साथ खड़ी भीड़ को दशार्ते हुये लिखा है ‘नहीं अकेले हैं शिवपाल। उन्होंने बताया कि शिवपाल के नए दल में सपा के कई असंतुष्ट नेता और कार्यकर्ता है जिन्होंने सपा में उपेक्षा का आरोप लगाते हुये शिवपाल की पार्टी से खुद को जोड़ा है। संगठन में मजबूत पकड़ रखने वाले शिवपाल का साथ देने वाले ऐसे कार्यकर्ता पार्टी की मजबूती के रात दिन एक किये हुये हैं।पार्टी सूत्रों के मुताबिक, जनाक्रोश रैली शिवपाल की नयी पार्टी के लिये ना सिर्फ मील का पत्थर साबित होगी बल्कि उन ताकतों के लिये भी चेतावनी होगी, जिन्होंने पिछले डेढ़ साल के दौरान शिवपाल को हतोत्साहित करने में कोई कोरकसर नही छोड़ी। रैली में शिवपाल के बड़े भाई और सपा संरक्षक मुलायम के भाग लेने की संभावना अतिक्षीण है मगर राजनीतिक बिसात के धुरंधर मुलायम के बारे में अतिश्योक्ति से इंकार नहीं किया जा सकता। हाल ही में निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की रैली से कल होने वाली जनसभा की तुलना को गलत बताते हुये पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित जनाक्रोश रैली का मकसद सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का असली चेहरा जनता के सामने लाने का है। नोटबंदी एवं जीएसटी से केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के अदूरदशीर् फैसलों से जहां देश की अर्थव्यवस्था चरमराई है वहीं मंहगाई और बेरोजगारी से आम जनता त्राहि त्राहि कर रही है। उन्होंने कहा कि यह रैली केंद्र और प्रदेश की योगी सरकार की नीतियों के खिलाफ है। राज्य की योगी सरकार विकास को तरजीह देने की बजाय राममंदिर को फिर से चुनावी मुद्दा बनाने की फिराक में है वहीं प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालत पतली है। जनता में इन सबको लेकर आक्रोश है।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: