पीएम मोदी ने एक के बदले दस सर लाने का वादा किया था, कहाँ गया वादा ?

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


फीरोजाबाद, । समाजवादी पार्टी के गढ़ माने जाने आगरा मंडल वाली सुहागनगरी फीरोजाबाद में आज समाजवादी पार्टी के दिग्गजों ने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। सिरसागंज में समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के साथ अध्यक्ष अखिलेश यादव व प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने मंच साझा किया।यहां के नसीरपुर में वीर चक्र विजेता करगिल युद्ध शहीद बृजलाल की प्रतिमा का अनावरण किया गया। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यहां पर एक्सप्रेस वे के कारण आज भारी भीड़ उमड़ी है। मैदान गाड़ी और जनता से भर गया। मैं नेताजी का आभार जताता हूं कि आप अपनों के बीच आये हैं। हम ब्रजलाल यादव के शौर्य को नमन करते हैं। शहीदों के सामान फौज घर लेकर आती थी। नेताजी ने फैसला बदला अब शहीद को घर लाया जाता है। यदि धैर्य सीखना है तो फौजियों को दीखिये। वर्तमान सरकार ने फौज को भी राजनीति में जोड़ दिया है। नेताजी ने फैसला किया कि सरकार की तरफ से शहीद को मदद देगें। हमने 20 लाख की मदद दी। गाजीपुर में शहीद के बूढ़े माँ बाप से मिला तो उन्हें भी सममान का फैसला लिया। भाजपा की साढ़े चार साल की सरकार के दौरान 350 सैनिक शहीद हुए है। अब यह लोग उनकी शहादत की बात नहीं करते हैं। पीएम मोदी ने एक के बदले दस सर लाने का वादा किया था। कहाँ गया वादा। वन रैंक वन पेंशन पर भी कुछ काम नहीं किया। रक्षा विभाग का बजट कम कर बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी कर रहे। अब देश को बुलेट ट्रेन की नहीं फौजी को बुलेटफ्रूफ जैकेट चाहिए। भाजपा ने सेना का अपमान किया। जहां जवान दुखी है वहीं किसानों को बुरे हाल पर छोड़ दिया।अखिलेश यादव ने कहा कि बताओ किसकी आय दोगुनी हुई। यह आलू का बेल्ट है। भाजपा ने चुनाव में कहा था कि आलू किसानों को राहत देंगे। खाद कितनी महंगी हो गई। उज्ज्वला के चूल्हे दुबारा नहीं चले। कांग्रेस की महंगाई को भाजपा ने एक हजार तक पहुंचा दिया। पीएम मोदी खुद तो विदेश घूमते हैं, लेकिन बेरोजगार युवा जगह-जगह धक्के खा रहे हैं। पीएम ने इनको रोजगार देने का बादा किया था, लेकिन अब भूल गए हैं। इन्होंने जिस रास्ते पर देश धकेल दिया उसमें रोजगार पैदा नहीं होंगे। देश में बड़े काम करना होंगे। हमने प्रदेश में बड़े काम किए, बड़ी सड़क बनाई। यह एक्सप्रेस-वे छोटा मोटा नहीं देश का सबसे बड़ा है। हम यहां सड़क किनारे मंडियां बना रहे थे, मगर अब सरकार ने रुकवा दिया। इस सड़क को हम 36 महीने में बनना चाहते थे। नेताजी के कहने पर 24 महीने तय किये थे, हमने 21 महीने में बना दी। लड़ाकू विमान उतारे। साइकिल वालों ने सबसे बड़ी सड़क बनाई। समाजवादियों ने गांव वालों को कम्प्यूटर चलाने सिखाए। हमने गरीब महिला को 500 पेंशन दी जो अबकी सरकार ने बन्द कर दी। अबकी आये तो दो हजार रुपये देंगें। मुख्यमंत्री सदन में कहते हैं ठोक दो, बुलंदशहर और लखनऊ में देख लो किसको ठोक दिया। यही मुख्यमंत्री रहें तभी हम 300 सीटें जीतेंगे।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: