गोकशी के शक में पीलीभीत में बवाल, आरोपितों को साथ लाए, तो घेरी कोतवाली

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


पीलीभीत । गुरुवार को पूरनपुर नगर में बवाल हो गया। जिस चिंगारी पर बुलंदशहर धधका, गोकशी की ऐसी ही एक सूचना क्षेत्र के एक गांव से उठी, जिस पर लोग भड़क उठे। पहले गांव में प्रदर्शन किया। खबर फैली तो संगठन भी आ गए। कोतवाली घेर ली। गनीमत रही कि कोतवाल ने मौका भांपकर अफसरों को खबर की और आसपास के थानों से अतिरिक्त फोर्स बुला ली। अफसरों के समझाने और कार्रवाई का आश्वासन देने पर बमुश्किल लोग शांत हुए। बाद में गोकशी के आरोप में पुलिस ने पूरनपुर से 10 और बीसलपुर से तीन तस्करों को गिरफ्तार किया। पूरनपुर में पांच कुंतल गो मांस भी बरामद किया गया। घर के भीतर हो रही थी पशु कटानमामला पूरनपुर देहात क्षेत्र के मुहल्ला अहमदनगर का है। आरोप है, एक घर में पशु कटान हो रहा था। उस घर का दरवाजा खुला था। रास्ते से निकलने वालों ने देखा तो आक्रोशित हो गए। देखते ही देखते चर्चा पड़ोस के गांव से लेकर नगर तक फैल गई। पहले गांव में लोगों ने प्रदर्शन किया। जाम लगाने की कोशिश की। पुलिस मौके पर पहुंची, तो उसके सामने भी जमकर प्रदर्शन किया।आरोपितों को साथ लाए, तो घेरी कोतवालीमामला भड़कने और लोगों के शांत न होने पर आखिर पूरनपुर के कोतवाल ने एसडीएम और सीओ को खबर की। सर्किल के माधोटांडा व सेहरामऊ थाने से फोर्स बुलानी पड़ी। अतिरिक्त बल आने पर पुलिस गोकशी के आरोपितों शब्बीर अहमद, हनीफ, बशीर अहमद, रहीस अहमद, मोहम्मद मियां, रफीक, अकरम निवासी शेरपुर कला, हबीब, बब्बू निवासी मुहल्ला अहमदनगर और मोहम्मद इस्लाम निवासी मुहल्ला साहूकारा को हिरासत में लेकर थाने ले आई। तब तक ¨हदूवादी संगठन के लोग कोतवाली जा धमके। पुलिस पर आरोपितों को बचाने के आरोप लगाकर नारेबाजी करने लगे। धीरे-धीरे प्रदर्शनकारियों की संख्या बढ़ने लगी। उन्होंने कोतवाली के सामने जाम लगा दिया। तब फिर से पड़ोसी थानों का फोर्स पूरनपुर बुलाना पड़ा। पहुंचे एसडीएम, सीओ, आश्वासन पर खुला जामएसडीएम झब्बर प्रसाद चौहान, सीओ कमल सिंह यादव कोतवाली पहुंचे। आरोपितों को मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। तब प्रदर्शनकारी शांत हुए और जाम खुल सका। एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस लगा दी गई है। क्या बोले पुलिस अधिकारी गोवंशीय पशुओं का वध करने के मामले में गिरफ्तार हुए सभी आरोपितों कोजेल भेज दिया गया है। कोतवाली के सामने कुछ संगठनों के लोगों ने गोवंशीय पशुओं की तस्करी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए प्रदर्शन किया था। उस मामले में फिलहाल कोई कार्रवाई अभी नहीं की गई है। जांच कराई जाएगी। -योगेंद्र कुमार, सीओ पूरनपुर

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: