India vs Australia, Test series: कभी मैदान की देखभाल करता था, अब भारत के लिए सबसे बड़ी मुसीबत

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

ए़डिलेडः भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में पहला टेस्ट मैच 6 दिसंबर से शुरू होने जा रहा है और दोनों ही टीमें पांच टेस्ट मैचों की इस जंग के लिए तैयार हैं। विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पूर्व दिग्गजों ने बेहद मजबूत करार दिया है और कुछ ने ये भी कहा है कि ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने का ये भारत के पास सबसे सुनहरा मौका है। टीम इंडिया में अनुभव और युवा जोश की कोई कमी नहीं है और कुछ दिग्गज कंगारू खिलाड़ियों (स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर) की गैरमौजूदगी में ये भारतीय टीम के पक्ष में काम करेगा। दोनों ही टीमों में धाकड़ खिलाड़ी मौजूद हैं लेकिन हम यहां जिस एक खिलाड़ी की बात करने जा रहे हैं वो टेस्ट सीरीज और खासतौर पर पहले टेस्ट में टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ी मुसीबत साबित होने वाला है। आइए जानते हैं क्या है वजह।

हम यहां बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथन ल्योन की। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट एडिलेड में होने जा रहा है और इस मैदान का नाथन ल्योन के साथ पुराना नाता रहा है। ये वही मैदान है जहां कभी नाथन ल्योन ग्राउंडमैन की जिम्मेदारी संभाला करते थे। मैदान की पिच और घास को दुरुस्त रखने वाले उस लड़के को कभी पता नहीं था कि वो एक दिन ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के स्पिन अटैक का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा बनेगा। अब ल्योन का ये सपना पूरा हो चुका है और वो एक बार फिर इस मैदान पर लौट रहे हैं। उनसे बेहतर इस मैदान को शायद ही कोई समझ सकता है और इस बार उनके सामने है भारतीय क्रिकेट टीम जिसे इस स्पिनर की चुनौती का सामना करना होगा।

 क्या याद है वो मुकाबला?

चार साल पहले जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर आई थी तब भी एडिलेड टेस्ट से ही सीरीज की शुरुआत हुई थी। उस मैच के चौथे दिन दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर हुई थी। भारत को उस दौरान दिन चायकाल के बाद बाकी 37 ओवरों में जीत के लिए कुल 158 रनों की जरूरत थी और टीम इंडिया के पास 8 विकेट बाकी थे। विराट कोहली उस दौरान अकेले योद्धा साबित हुए थे। विराट शानदार शतक लगाकर पिच पर जमे हुए थे लेकिन कोई अन्य बल्लेबाज उनका साथ देने को तैयार नहीं दिख रहा था। इसके बाद नाथन ल्योन का कहर शुरू हुआ। पहले उन्होंने विराट कोहली को कैच आउट कराया और फिर देखते-देखते ये हालत हो गई कि टीम इंडिया को 60 रनों की जरूरत थी और 3 विकेट बाकी थे। इसके बावजूद कंगारू टीम 48 रन से मैच जीत गई। इसका पूरा श्रेय गया नाथन ल्योन को जिन्होंने चौथे दिन के तीसरे सत्र में 6 विकेट ले डाले और उस मैच में कुल 12 विकेट लेकर उन्होंने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

– हैरान करने वाले हैं ये आंकड़े

नाथन ल्योन ने अपनी जमीन पर भारतीय टीम के खिलाफ अब तक 30 टेस्ट विकेट लिए हैं और दिलचस्प बात ये है कि इनमें से 23 विकेट भारत के पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ही मिले थे। वो उस सीरीज में 34.82 के औसत और 3.58 की इकॉनमी रेट के साथ सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज साबित हुए थे।

इसके अलावा अगर बात करें एडिलेड मैदान की तो ये मैदान अब तक ल्योन के लिए हमेशा ही लकी साबित हुआ है। ल्योन ने अब तक इस मैदान पर 14 पारियों में 37 विकेट हासिल किए हैं। ल्योन ने भारत के खिलाफ 2011 से 2017 के बीच 14 टेस्ट मैचों में कुल 64 विकेट हासिल किए हैं। बांग्लादेश (2 मैचों में 22 विकेट) और इंग्लैंड (18 मैचों में 65 विकेट) के खिलाफ अगर उनका किसी टीम के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है तो वो भारतीय टीम ही है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: