बिना चले पैरों में होता है दर्द तो ना लें इसे नॉर्मल, हो सकती है शरीर में इन चीजों की कमी

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Common Causes of Foot Pain and treatment: पैरों में हर समय दर्द बने रहना और दर्द ठीक करने के लिए आप दवा का सहारा ले रहे तो यह सही नहीं। ऐसी प्रॉब्लम अगर आप झेल रहे हैं तो आपके लिए ये गंभीर संकेत है। ये आपके शरीर में विटामिन्स और मिनिरल के अत्यधिक कम होने का संकेत है।

पैरों में दर्द होने के साथ अगर आपके अंदर कई और लक्षण नजर आ रहे हैं जो नार्मल न हो तो आप इसके लिए किसी अच्छे विशेषज्ञ से जरूर मिलें। ये लक्षण आपके अंदर विटामिन डी की कमी के हो सकते हैं। ये ही एक ऐसा विटामिन है जो शरीर में कई बार निगेटिव तक पाया जाता है। सबसे पहला लक्षण यही है कि अचानक से पैरों और मासपेशियों में दर्द का बढ़ना है।

इसके अलावा अगर दांतों में दर्द का अहसास हो जो कि दांतों से दांतों के दबाने पर महसूस होता हो, बार-बार इंफेक्शन होना, अचानक से तनाव का बढ़ना या चिढ़चिड़ापन आना या मूड स्विंग, बहुत ज्यादा पसीना आना ये कुछ नार्मल लक्षण है।

विटामिन डी की कमी के कई कारण हैं जिनमें जिसकी स्किन का कलर डार्क हो उसे विटामिन डी की कमी अन्य से ज्यादा होती है। अगर आपकी उम्र 50 साल से अधिक है, अगर आप धूप में जाने से बचते हैं, आपका वजन ज्यादा है, आपके घर में धूप का कोई सोर्स नहीं और अगर आपके खाने में विटामिन डी नहीं तो आप आसानी से विटामिन डी की कमी के शिकार हो जाएंगे।

आर्थोपेडिक डॉ राकेश कुमार बताते हैं कि हड्डियों को टूटना और टेनिस एल्बो का मौजूदा समय में मुख्य कारण विटामिन डी की कमी है। हड्डियों में कमजोरी के कारण पैरों में ऐठन और जोड़ों में दर्द की शुरुआत होती है। यहां जानें पैरों में दर्द होने के क्‍या कारण हो सकते हैं….

विटामिन डी की कमी 
वैसे तो नेचरल तरीके से पूरा करना चाहिए लेकिन अगर शरीर में विटामिन डी निगेटिव शो कर रहा तो आप सबसे पहले डॉक्टर से मिलें और उनसे विटामिन डी की खुराक लें। इसके बाद सुबह के समय धूप लेना शुरू करें।

इन्हें अपने फूड हैबिट में करें शामिल

1. सॉल्मन और टूना फिश
नॉन वेज खाने वाले सॉल्मन और टूना फिश जरूर खाएं। इसमें विटामिन डी सबसे ज्यादा होता है। कॉड लीवर ऑयल की गोलियां भी खाई जा सकती हैं।

2. अंडा
अंडा भी विटामिन डी का नेचरल सोर्स है।

3. डेयरी प्रॉडक्ट
दूध,मक्खन और पनीर अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। इससे शरीर की बहुत सी परेशानियां दूर हो जाती है।

4. गाजर
गाजर का जूस पीने से विटामिन की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है। रोजाना 2 गिलास गाजर की जूस जरूर पिएं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: