वाराणसी पहुंचे अखिलेश यादव तो उम्मीद से ज्यादा उमड़ी भीड़

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


वाराणसी पुलिस-प्रशासन के लिए गुरुवार शाम काफी परेशानियों के साथ गुजरा। शहर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मौजूदगी इसका कारण रहा। ऐसा पहली बार हुआ जब मुख्यमंत्री योगी और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक साथ वाराणसी में थे। इस बीच सुरक्षा और यातायात व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति रही। सीएम योगी ने जहां पीएम के दौरे के मद्देनजर हालात का जायजा लिया तो वहीं पूर्व सीएम अखिलेश खिड़किया घाट पर आयोजित गोवर्धन पूजा में शामिल हुए। अखिलेश यादव के इस कार्यक्रम में उम्मीद से ज्यादा भीड़ उमड़ी। इस दौरान कई बार स्थिति अराजक हुई। भीड़ में कई बार धक्कामुक्की की नौबत भी आई। कार्यक्रम स्थल की ओर जाने वाली तमाम सड़कें दोपहर बाद से ही जाम रही।दीपावली के अगले दिन हर साल गोवर्धन पूजा समिति की ओर से गोवर्धन पूजन उत्सव का आयोजन किया जाता है। इससे पहले 2007 में एक बार और अखिलेश यादव बतौर सांसद इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। वहीं 11 साल बाद एक बार फिर अखिलेश यादव इस कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान अव्यवस्था के चलते अखिलेश यादव बिना मीडिया से बात किए ही कार्यक्रम स्थल से रवाना हो गए।अखिलेश यादव के खिड़किया घाट पहुंचते ही वहां मौजूद सपा नेता उनके पास जाने के लिए धक्का-मुक्की करने लगे। अखिलेश यादव जब मंच पर पहुंच गये तो सुरक्षाकर्मियों ने मंच को पूरी तरह से अपने घेरे में ले लिया। इस दौरान कई सपा नेता मंच पर चढ़ने के लिए सुरक्षाकर्मियों से नोक झोंक करते रहे। अखिलेश यादव के कार्यक्रम स्थल से जाने तक कई बार सपा नेताओं ने सुरक्षाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की भी की इस दौरान सीओ दशाश्वमेध अभिनव यादव के हाथ में चोट भी आ गई।पूर्व के वर्षों की भांति ही खिड़किया घाट की ओर जाने वाला कोतवाली थाना अंतर्गत मैदागिन चौराहा से कबीरचौरा और विश्वेशरगंज की ओर जाने वाला दोपहर से जाम की जद में रहा। आगे निकलने का रास्ता राहगीरों को नहीं मिल पा रहा था। आगे निकलने की होड़ में अफरातफरी का माहौल रहा। आमजन की तेजी से बढ़ती भीड़ देख सुरक्षा व्यवस्था में तैनात पुलिसकर्मियों और पीएसी के जवानों में हड़कंप की स्थिति रही। क्षेत्र में और पुलिसकर्मी बुलाए गए। रह रह कर समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव के नारे लगते रहे।सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुरुवार देर शाम वाराणसी पहुंचे थे। बाबतपुर एयरोपोर्ट से खिड़किया घाट तक कार्यकर्ताओं के हुजूम के बीच वो सड़क मार्ग से पहुंचे। खिड़किया घाट पर अखिलेश यादव ने सबसे गोवर्धन मंदिर में दर्शन किया उसके बाद मंच पर चढ़े। इस दौरान कार्यकर्ताओं के बीच सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से हाथ मिलाने और फोटो खिंचाने की होड़ मच गई। इस आपाधापी में सुरक्षा व्यवस्था में लगी पुलिस के साथ जमकर धक्का-मुक्की भी हुई। रह रह कर अखिलेश यादव के नारे भी लगते रहे।अखिलेश यादव ने गोवर्धन पूजा के महत्व के बारे में बताया और कहा कि किसी ने मां गंगा को साफ करने की कसम खाई थी, लेकिन गंगा की स्थिति पहले से और बदतर हो गई। उत्तर प्रदेश में अपराध कम करने का दावा किया गया था, लेकिन अपराध चरम पर है। मोदी और योगी अपने द्वारा किए गए वादों पर पूरी तरह से झूठे साबित हुए हैं। जनता के साथ भाजपा ने छल किया गया है। वहीं सपा कार्यकर्ताओं ने अखिलेश यादव को चांदी की साइकिल भी भेंट की। गोवर्धन पूजा में शाम होने के बाद अखिलेश यादव सपा नेता मनोज राय धूपचंडी के घर उनकी मां की तेरही में शामिल होने के लिए चले गए।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: