इलाहाबाद, फैजाबाद के बाद अब अहमदाबाद का नाम बदलने की तैयारी

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


इलाहाबाद और फैजाबाद के बाद अब बीजेपी शासित एक और राज्‍य गुजरात में नाम बदलने की तैयारी चल रही है। गुजरात सरकार अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती करने की तैयारी पूरी कर चुकी है। अहमदाबाद को यह नाम सुल्‍तान अहमद शाह ने दिया था।मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्‍या किए जाने के कुछ घंटे बाद ही गुजरात सरकार ने ऐलान किया कि यदि लोगों का समर्थन मिला और कोई कानूनी बाधा नहीं आई तो वह अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती करने के लिए तैयार है। राज्‍य के डेप्‍युटी सीएम नितिन पटेल ने कहा कि अहमदाबाद के लोग कर्णावती नाम पसंद करते हैं।उन्‍होंने कहा, ‘लंबे समय से ही अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती किए जाने की मांग उठ रही है। यदि कानूनी प्रक्रिया के लिए हमें लोगों की मदद मिली तो हम नाम बदलने के लिए तैयार हैं। अहमदाबाद के लोग कर्णावती नाम पसंद करेंगे। जब उचित समय आएगा तो हम नाम बदल देंगे।’ बता दें कि अहमदाबाद भारत का एकमात्र शहर है जिसे ‘विश्‍व विरासत’ का तमगा हासिल है। ऐतिहासिक दृष्टिकोण से देखें तो अहमदाबाद के आसपास का इलाका 11वीं सदी में बसना शुरू हुआ। उस समय इसे अशवाल कहा जाता था। चालुक्‍य शासक कर्ण ने अशवाल के भील शासक को युद्ध में हराकर साबरमती नदी के किनारे कर्णावती शहर को बसाया था। सुल्‍तान अहमद शाह ने 1411 ईस्‍वी में कर्णावती के पास एक नए शहर की नींव रखी और इसका नाम अहमदाबाद रखा। अहमद शाह ने यहां के चार संतों के नाम पर इस नए शहर का नाम अहमदाबाद रखा। उधर, कांग्रेस ने बीजेपी सरकार के इस बयान की आलोचना की है और कहा है कि यह चुनावी तिकड़म से ज्‍यादा कुछ नहीं है। बता दें कि देशभर में राम मंदिर के मुद्दे पर छिड़ी बहस के बीच उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की। छोटी दिवाली पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान योगी ने अयोध्या को कई सौगातें दीं। योगी ने अयोध्या में मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ और एयरपोर्ट का नाम हिंदुओं के आराध्य राम के नाम पर करने की घोषणा की। सीएम योगी ने फैजाबाद का नाम बदलने का ऐलान करते हुए कहा, ‘आज से अयोध्या के नाम से यह जनपद जाना जाएगा। यह (अयोध्या) हमारे आन, बान और शान की प्रतीक है। मुझे लगता है कि अयोध्या की पहचान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम से है। अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम को दुनिया ने स्मरण किया है। अभी तो यह उदाहरण है। आज कोरिया गणराज्य आपके उत्सव में शामिल हुआ है।’

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: