राधारानी के बरसाना में लठामार होली आज, रंगों में सरोबार होने के लिए उमड़ेगा जनसैलाब

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


अपनी विलक्षण शैली के लिए देश-दुनिया में जानी जाने वाली बरसाना की लठामार होली का आयोजन आज जाएगा। लठामार होली खेलने के लिए नंदगांव के हुरियारे दोपहर दो बजे प्रिया कुंड पर पहुंचेंगे, जहां बरसानावासियों द्वारा उनका स्वागत सत्कार किया जाएगा। इस मौके पर उन्हें स्वागत में भांग की ठंडाई पिलाई जाएगी। भांग की मस्ती में झूमते हुरियारे यहां पर अपनी पाग बांध कर खुद को लठामार की मार झेलने के लिए तैयार करते हैं। हुरियारे यहां से सीधे लाडली जी मंदिर में पहुंचेंगे, जहां बरसाना और नंदगांव के गोस्वामियों का संयुक्त समाज गायन होगा। समाज गायन के दौरान दोनों पक्ष एक दूसरे पर प्यार भरे कटाक्ष करेंगे। समाज गायन के बाद हुरियारे रंगीली गली में उतरेंगे। जहां हुरियारिनें हाथ में लाठियां लिए उनके स्वागत को तैयार मिलेंगी। रंगीली गली से हुरियारिनों द्वारा हुरियारों पर लाठियां बरसानी शुरू कर दी जाएंगी। हुरियारे बड़ी कुशलता से खुद को बचाते हुए हुरियारिनों की लाठी के प्रहारों को अपनी ढालों पर झेलेंगे। ब्रज की भव्य और दिव्य होली के इस अद्भुत दृश्य को देखने के लिए लाखों का जनसैलाब उमडे़गा। इसके लिए प्रशासन के सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। बरसाना लठामार होली की सुरक्षा 2077 जवानों के कंधों पर बरसाना की विश्व प्रसिद्ध लठामार होली की सुरक्षा 1676 जवानों के कंधों पर होगी। तीन जोन और 10 सेक्टर में बरसाना की सुरक्षा को बांटा गया है। अबकी बार बीएसएफ और पीएसी की सुरक्षा में लठामार होली होगी। बरसाना मंदिर के चहुंओर की सुरक्षा पुलिस के हाथों में रहेगी। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने सुरक्षा का खाका खींच लिया है। बरसाना को तीन जोन और 10 सेक्टर में बांटा गया है। कड़ी सुरक्षा के मध्य लठामार होली होगी। 14 मार्च को लड्डू होली से ही सुरक्षाकर्मी अपने-अपने तय प्वाइंट पर नजर आएंगे। एएसपी-तीन, क्षेत्राधिकारी-10, इंस्पेक्टर/थाना प्रभारी-50, एसआई-150, सिपाही-700, होमागार्ड-500, 50 ट्रैफिक पुलिसकर्मी, 80 महिला एसआई/सिपाही, चार कंपनी पीएसी, एक कंपनी बीएसएफ, एलआईयू, बम निरोधक दस्ता, डॉग स्कवॉड, सादा वर्दी में पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: