कचहरी में दिनदहाड़े गोलीमार कर अधिवक्ता जगनरायन यादव की हत्या

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


अधिवक्ता जगनरायन यादव की हत्या मे शामिल दोषियों को कठिन से कठिन सजा की मांग की समाजवादी पार्टी बस्ती के नेता महेंद्र नाथ यादव नेदीवानी कचहरी में बृहस्पतिवार दोपहर बाद 63 वर्षीय अधिवक्ता जगनरायन यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। तीन बजकर 40 मिनट पर उनके तख्ते (शेड) पर पहुंचे युवक ने 315 बोर तमंचे से सीने में गोली मारी। आसपास के अधिवक्ता व मुवक्किल जब तक दौड़े, गोली दागने वाला कुछ दूरी पर बाइक लेकर खड़े अपने दूसरे साथी के साथ भाग निकला।घटना की जानकारी होते ही कचहरी में मौजूद भारी तादाद में अधिवक्ता भागते पहुंच गए। इधर पुलिस उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंची, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। कचहरी में किसी अधिवक्ता की इस प्रकार तख्ते पर जाकर हत्या की पहली घटना से सभी सन्न हैं। एसपी दफ्तर से कुछ ही दूरी पर अंजाम दी गई इस घटना से पुलिस भी हतप्रभ है। एसपी पंकज कुमार का कहना है कि 24 घंटे के भीतर हत्यारोपियों को दबोच लिया जाएगा। इसके लिए कोतवाली पुलिस व क्राइम ब्रांच सहित पुलिस की चार टीमें लगाई गई हैं। अधिवक्ता जग नरायण कप्तानगंज थाने के करमिया बसंतलाल के रहने वाले थे। शहर में कोतवाली थानाक्षेत्र के रौतापार (अमरुतहिया के पास) मकान बनवाकर परिवार सहित रहते थे। तख्ते के ठीक बगल के प्रत्यक्षदर्शी अधिवक्ता अरविंद दुबे ने बताया कि वह अपनी रिवाल्वर निकालकर हत्यारे पर ताने लेकिन गोली दागने वाला तमंचा लहराते भाग निकला। एएसपी पंकज के अनुसार अधिवक्ता से गांव के एक निजी मुकदमे को लेकर पट्टीदार से अदावत की बात सामने आ रही है। आईपीसी की धारा 436 के उक्त मुकदमे में सात अभियुक्तों की सजा सुनाई गई थी। प्रथम दृष्ट्या हत्या के पीछे उसी मुकदमे की चर्चा है।गिरफ्तारी तक अदालती कामकाज बंद 63 वर्षीय अधिवक्ता सिविल बार एसोसिएशन के सदस्य थे। भरी कचहरी में दिनदहाड़े तख्ते पर मौजूद वरिष्ठ अधिवक्ता की हत्या से अधिवक्ताओं के अलावा व्यापारियों, कर्मचारी संगठनों में जबरदस्त गुस्सा है। संयुक्त बार एसोसिएशन ने घटना की कड़ी भर्त्सना करते हुए हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की। ऐलान किया कि जब तक इनकी गिरफ्तारी नहीं की जाती तब तक न्यायिक कार्यों से बिरत रहेंगे।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: