किसानों पर मूसलाधार बारिश का कहर बरपा, ओलावृष्टि से फसलें तबाह

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


बरेली- किसानों पर इस बार कुदरत का कहर बरपा। घंटे भर की मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि ने गेहूं, गन्ना, सरसों, आलू, मसूर और मटर समेत बाकी रबी फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया। सैकड़ों एकड़ खेतों में गेहूं चटाई की तरह बिछ गया। ओलावृष्टि होने से 30 से 40 फीसदी उत्पादन गिरने का अनुमान है। कृषि विभाग ने ओलावृष्टि वाले इलाकों में फसल नुकसान का आकलन करने के लिए बीमा कंपनी से 72 घंटे के अंदर सर्वे कराने का आश्वासन दिया है।पूर्वानुमान के अनुसार बुधवार को सुबह से ही बादल छा गए। दोपहर में सूर्य बादलों की ओट में हो गए। अपराह्न दो बजे के बाद अचानक आसमान में काली घटा छाई और बारिश होने लगी। करीब 45 मिनट से अधिक समय तक कभी हल्की तो कभी मूसलाधार बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार 20 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है। सर्दी के उतार में इतनी बारिश गेहूं समेत रबी की अन्य फसलों के लिए नुकसानदायक है। दिन का तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस था, जो सामान्य से 3.0 डिग्री सेल्सियस कम था। न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से 1.0 डिग्री सेल्सियस कम था। बारिश के दौरान कहीं अंगूर तो कहीं बेर के आकार के (50 से 100 ग्राम वजन में) ओले भी गिरे। क्यारा और बिथरी ब्लॉकों के दर्जनों गांवों में बारिश और ओलावृष्टि से सैकड़ों एकड़ एरिया में गेहूं, गन्ना, मटर, सरसों और आलू आदि फसलें खेतों में चटाई की तरह बिछ गईं। दोनों ब्लॉकों के मिर्जापुर, बुखारा, उमरसिया, परातासपुर, सिरसा, बभिया, चौबारी, रजऊ परसपुर, थारूपुर समेत दर्जनों गांवों में सैकड़ों एकड़ फसलें तबाह हो गईं। मौसम वैज्ञानिक डॉ. एचएस कुशवाहा ने दो दिन यानी 28 फरवरी और एक मार्च को आसमान साफ होने की भविष्यवाणी की है। लेकिन दो मार्च को एक बार फिर से हल्की मध्यम बारिश के आसार हैं। यहां बर्बाद हुई फसलें बिथरी के गांव परातासपुर में इसरार खां का 10 बीघा, शेरूद्दीन का 20 बीघा, शोबरन का 35 बीघा गेहूं बारिश और ओलावृष्टि में पूरी तरह बर्बाद हो गया। सुनील कुमार और गुलफाम का 25-25 बीघा गेहूं भी खेतों में बिछ गया। रजऊ परसपुर के सत्यप्रकाश का 40 बीघा, प्यारेलाल का 20 बीघा, धर्मपाल का 25 बीघा, लालाराम का 50 बीघा, विपिन का 10 बीघा, रामचंद्र का 40 बीघा आलू भी खराब हो गया। थारूपुर ठाकुरान में हसनैन खां का 30 बीघा, सुंदरपुर में वीरेंद्र सिंह का 25 बीघा, अजयपाल का 20 बीघा, देवेंद्र सिंह का 25 बीघा गेहूं को भारी नुकसान पहुंचा। पीतमपुर में डब्ल्यू और मनोज का 15-15 बीघा गेहूं भी बर्बाद हो गया। क्यारा ब्लाक के मिर्जापुर के एतेंद्र कुमार का 25 बीघे से ज्यादा खेत में गेहूं और आलू की फसल नष्ट हो गई।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: