26 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMNभारत ने पीओके में जैश के सबसे बड़े शिविर को नष्ट किया, कई आतंकी ढेर : विदेश सचिव

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने को निशाना बनाया, जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए। इस अभियान में मारे गए आतंकियों में जैश ए मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर का बहनोई युसूफ अजहर शामिल है।

विदेश सचिव विजय गोखले ने यह जानकारी दी। साथ ही गोखले ने यह भी कहा कि भारत सरकार आतंकवाद रूपी बुराई को जड़ से समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। विदेश सचिव यहां ने संवाददाताओं को बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में एक और आत्मघाती आतंकी हमला करने की साजिश रच रहा है।

उन्होंने कहा कि इस जानकारी के बाद सीमा के दूसरी ओर जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी शिविर पर गैर-सैन्य एकतरफा हमले किए गए। गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना के आज सुबह चलाए गए अभियान में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया गया। इस अभियान में बड़ी संख्या में जैश के आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए।

इस शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी कर रहा था, जो जैश प्रमुख मसूद अजहर का बहनोई था। उन्होंने कहा कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद भारत में और आत्मघाती आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। फिदायीन जिहादियों को इस काम के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा था।

ऐसे में हमने यह कार्रवाई की। गोखले ने कहा कि हमने पाक को आतंकी हमले के सबूत कई बार दिए लेकिन पाकिस्तान ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। यह ऐहतियातन उठाया गया कदम और गैर सैन्य कार्रवाई थी जिसका मकसद आतंकी ठिकानों को निशाना बनाना था। हमने जैश ए मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया जो घने जंगल में पहाड़ियों पर थे और नागरिक इलाकों से दूर थे। उन्होंने कहा कि इन आतंकी शिविरों में इतने बड़े पैमाने पर जेहादियों को प्रशिक्षण देना बिना पाकिस्तानी प्राधिकार की जानकारी के संभव नहीं था।

पाकिस्तान को बार बार इन आतंकी ठिकानों के बारे में जानकारी दी गई और कार्रवाई करने को कहा गया। लेकिन वह इंकार करता रहा। विदेश सचिव ने कहा कि आसन्न खतरे को देखते हुए, एकतरफा कार्रवाई ‘अत्यंत आवश्यक’ थी। गोखले ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान अपने 2004 के संकल्प पर अमल करेगा कि वह भारत के खिलाफ आतंकी हमलों के लिये अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देगा।

विदेश सचिव ने कहा कि भारत आतंकवाद से निपटने के लिए सभी कदम उठाने को दृढ़तापूर्वक प्रतिबद्ध है। भारत की पाकिस्तान से अपेक्षा है कि वह जैश ए मोहम्मद सहित सभी आतंकी शिविरों को नष्ट करेगा। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को किए गए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

पाक स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। भारतीय वायु सेना के आज के अभियान के बारे में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया। कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति की एक बैठक की अध्यक्षता की। वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बैठक में हिस्सा लिया। 

पीएम मोदी बोले, देश सुरक्षित हाथों में है, देश से ऊपर कुछ भी नहीं है



चुरू (राजस्थान)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि देश सुरक्षित हाथों में है और देश से ऊपर कुछ भी नहीं है। नियंत्रण रेखा के पार आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई का जिक्र किए बिना मोदी ने सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा… कविता पढ़ी और कहा कि उनके लिए खुद से बड़ा दल और दल से बड़ा देश है।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने राजस्थान की सरकार पर आरोप लगाया कि वह केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और आयुष्मान भारत योजना में सहयोग नहीं कर रही है जिसकी वजह से इनका लाभ राज्य के किसानों और आम जनता को नहीं मिला। मोदी भारतीय वायु सेना द्बारा पाकिस्तान में, नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर मंगलवार को तड़के आतंकी शिविरों के खिलाफ कार्रवाई के बाद अपनी पहली चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

अपने भाषण की शुरुआत में मोदी ने मौजूदा जनसमूह के जोश को देखते हुए कहा कि आज आपका मिजाज कुछ और लग रहा है। इसके बाद उन्होंने भारत माता के जयकारे लगवाए और कहा कि आपकी ये भावनाएं, आपका ये उत्साह आपका ये जोश मैं भली भांति समझ रहा हूं। आज एक ऐसा पल है…, आओ हम सभी भारत के पराक्रमी वीरों को सिर झुकाकर नमन करें।

आज चुरू की धरती से मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि देश सुरक्षित हाथों में है और देश से ऊपर कुछ भी नहीं है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि देश से बढ़कर कुछ नहीं होता। देश सर्वोपरि है। मोदी ने अपने लगभग आधे घंटे के भाषण में सैन्य कार्रवाई का जिक्र तो नहीं किया लेकिन एक बार मुस्कुराते हुए जनता से कहा कि आज आपका मिजाज कुछ और ही लग रहा है। इसके बाद उन्होंने


यह कविता पढ़ी :
‘सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा।
‘मैं देश नहीं रुकने दूंगा, मैं देश नहीं झुकने दूंगा।

उन्होंने कहा कि हमें फिर से दोहराना है और खुद को याद दिलाना है। न हम भटकेंगे, न हम अटकेंगे, कुछ भी हो हम देश नहीं मिटने देंगे। मोदी ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का कार्यान्वयन इसलिए कर सकी है क्योंकि हमारे लिए खुद से बड़ा दल है और दल से भी बड़ा देश है।

इसी भावना के साथ हम निरंतर देश के प्रत्येक जन की सेवा में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि देश से बढ़कर हमारे लिए कुछ नहीं है। देश की सेवा करने वालों को, देश के निर्माण में लगे हर व्यक्ति को आपका ये प्रधानसेवक नमन करता है। वन रैंक वन पेंशन योजना के कार्यान्वयन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि हमने शहीदों के परिवारों से, पूर्व सैनिकों से वन रैंक वन पैंशन को लागू करने का वादा किया था और मुझे खुशी है कि चूरू और राजस्थान के हजारों परिवारों सहित देश भर के 20 लाख से अधिक सैनिक परिवारों को वन रैंक वन पैंशन का लाभ मिल चुका हैं।

इस योजना के लागू होने के बाद हमारी सरकार 35000 करोड़ रुपए फौजी परिवारों को वितरित कर चुकी है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और आयुष्मान भारत योजना सहित विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि ये बदला हुआ भारत है, जो नई रफ्तार से काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का गर्व है कि पिछले साढ़े चार साल में गरीबों के लिए डेढ़ करोड़ से ज्यादा मकान बन चुके हैं।

जब हमने पीएम किसान योजना की घोषणा की थी तो लोग कहते थे कि ये नहीं हो पाएगा, ये नामुमकिन है। लेकिन नामुमकिन अब मुमकिन है, क्योंकि ये मोदी सरकार है। मोदी ने कहा कि गरीब का, किसान का, जवान का और नौजवान को सम्मान देने का प्रयास अगर संभव हो पा रहा है, तो इसके पीछे एक ही ताकत है।

ये ताकत है आपकी, आपके एक वोट की। आपका ही वोट है जिसने 2014 में केंद्र में एक मजबूत सरकार बनाई थी, जिसका दम दुनिया आज देख रही है। अब आपका ही वोट मजबूर और कमजोर सरकार का सपना देखने वालों को जवाब देगा। अब आपका ही वोट मुझे और बीजेपी को पहले से भी अधिक मजबूती देगा।

यह मेरा विश्वास है। इसके साथ ही मोदी ने अपने भाषण में राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और आयुष्मान भारत योजना में राज्य सरकार सहयोग नहीं कर रही है जिसकी वजह से इनका लाभ राज्य के किसानों एवं आम जनता को नहीं मिला है।

मोदी ने कहा कि दो दिन पहले शुरू हुई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से देशभर के एक करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खाते में दो हज़ार रुपए की पहली किस्त पहुंच गई है। उन्होंने आगे कहा कि लेकिन दुख की बात यह है कि परसों जिन एक करोड़ से अधिक किसान परिवारों को मोदी सरकार की तरफ से सीधी मदद की पहली किस्त पहुंची, उनमें चुरू का, राजस्थान का एक भी किसान परिवार नहीं था।

ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां की सरकार ने अभी तक केंद्र सरकार को पात्र किसानों की सूची ही नहीं भेजी है। मोदी ने कहा कि किसानों का कल्याण, देश के गरीब का कल्याण हमारी सरकार के प्राथमिकताओं में है। लेकिन जब उनसे जुड़ी योजनाओं पर भी राजनीति की जाती है तो दुख होता है। इसके साथ ही मोदी ने आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए भी राज्य सरकार पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया।

राजस्थान का चुरू उस शेखावाटी इलाके में आता है जहां से बड़ी संख्या में लोग देश की सेना और अन्य सैन्य बलों में हैं। सभा में बड़ी संख्या में लोग थे। सभा में पाकिस्तान के खिलाफ नारे भी लगे। केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी सहित अनेक प्रादेशिक नेता मंच पर मौजूद थे।

वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, लोहा लोहे को काटता है,आग आग को काटती है



नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने मंगलवार सुबह पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की। इस स्ट्राइक में आतंकवादियों को मार गिराया। वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद देश के तमाम बड़े नेताओं की ओर से बयान आ रहे है। इस पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना की तारीफ की है। तो विपक्ष के नेताओं ने भी वायुसेना की तारीफ की। इसके बाद कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी इस एयर स्ट्राइक पर ट्वीट किया है।

उन्होंने अपने ट्वीट पर वायुसेना की तारीफ की और इसके साथ ही लिखा कि लोहा लोेहे को काटता है, आग आग को काटती है, सांप जब डंक मारता है, उसका एंटीडोट विष ही है और आतंकियों का विनाश अनिवार्य है। जय हिंद, जय हिंद की सेना। इसके बाद एक और ट्वीट करते हुए नवजो​त सिंह सिद्धू ने कहा सही गलत की जंग में, आप तटस्थ रहने का जोखिम नहीं उठा सकते, आतंकी संगठनों के खिलाफ जंग शुरू हो गई है, शाबास भारतीय वायुसेना, जय हिंद। 

आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को सुबह करीब साढ़े तीन बजे 12 मिराज 2000 भारतीय लडाकू जेट विमानों ने एलओसी के पार जाकर आतंकवादियों कैंपों को निशाना बनाया। इन कैपों को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है। हवाई हमले में जैश के कई आतंकी ठिकानों पर लांच पैड्स को तबाह किया गया है। 

पाकिस्तानी मीडिया को दिए इंटरव्यू में महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा कि…



नई दिल्ली। जम्मूू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तानी मीडिया को अपना हाल ही में इंटरव्यू दिया। अपने इस इंटरव्यू में पुलवामा हमले को लेकर भी कई बाते कहीं हैं। पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा ने कहा कि चुनाव के कारण हम संकट में फंसे हुए है। ऐेसी स्थिति में पाकिस्तान को हमले के बाद तनाव को रोकने के लिए कुछ करना चाहिए। इसके बाद महबूबा ने कहा कि हमले के बाद राजनेताओं पर भारी दवाब है, लेकिन युद्ध कोई हल नहीं है। 

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि लोगों का गुस्सा कश्मीरियों की तरफ बढ़ रहा है। इसके साथ ही कश्मीरियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। इस कारण से सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पडा है। मुफ्ती ने कहा कि पीएम ने देर से बयान दिया है। लेकिन सही बयान दिया। साल 2014 में हुए आम चुनाव से पहले अफजल गुरु को फांसी पर लटकाया था। इस बार पुलवामा के बाद हालात और ज्यादा खराब हो गए है। 

पूर्व सीएम महबूबा ने बताया कि मैं यह नहीं कह रही हूं कि मोदी जी कोशिश नहीं कर रहे हैं, लेकिन पहले पठानकोट हुआ और अब पुलवामा। इमरान खान को मोदी जी को फोन करना चाहिए। वहीं एक न्यूज चैनल को टेलीफोन पर दिए इंटरव्यू में महबूबा ने कहा कि मैंने कभी अपना रूख को नहीं बदला। मैंने कभी भी हुर्रियत और जमात पर कार्रवाई करने की अनुमति नहीं दी, यहां तक कि मैं बीजेपी के साथ सरकार में थी। पाक और भारत को हुर्रियत के साथ बातचीत करनी चाहिए। हमें यह निर्णय लेना चाहिए कि आर्टिकल 370 में कोई बदलाव नहीं होगा। 

महबूबा ने कहा कि भारत और पाक के बीच बातचीत होनी चाहिए। क्योंकि यदि चीजें बातचीत से सुधर सकती हैं तो फिर युद्ध की क्या जरूरत है। इसके बाद कहा कि पाकिस्तान कश्मीरियों के दर्द को समझेगा और तनाव कम करने के लिए कदम उठाएगा।

हवाई हमले : पाकिस्तान ने ‘अपने पसंद के समय और जगह’ पर जवाब देने का संकल्प लिया



इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत के दावे को पूरी तरह खारिज कर दिया कि उसने बालाकोट के नजदीक आतंकवादी शिविर को निशाना बनाया और भारी क्षति पहुंचाई। साथ ही उसने संकल्प लिया कि भारत के गैरजरूरी आक्रामकता का जवाब वह अपने पसंद के स्थान और समय पर देगा।

पाकिस्तान के अंदर बालाकोट में भारतीय हवाई हमले के कुछ घंटे के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की विशेष बैठक में प्रधानमंत्री इमरान खान ने सशस्त्र बलों और पाकिस्तान के लोगों से किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा है। नई दिल्ली में अधिकारियों ने जानकारी दी कि भारत ने मंगलवार की सुबह पाकिस्तान में जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर बम से हमला कर उसे नष्ट कर दिया।

हमले में काफी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक और वरिष्ठ कमांडर मारे गए। इस्लामाबाद में एनएससी की बैठक के बाद एक बयान में कहा गया, फोरम (एनएससी) भारत के दावे को पूरी तरह खारिज करता है कि उसने बालाकोट के नजदीक एक कथित आतंकवादी शिविर को निशाना बनाया और भारी क्षति पहुंचाई। भारत की सरकार ने एक बार फिर काल्पनिक दावे किए हैं। इसने दावा किया कि चुनावी माहौल में अपने घरेलू फायदे के लिए कार्रवाई की गई जिससे क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को गंभीर खतरा पहुंचा है।

इसने कहा कि फोरम का मानना है कि भारत ने गैर जरूरी आक्रामकता अपनाई जिसका पाकिस्तान अपनी पसंद के स्थान और समय पर जवाब देगा। बयान में कहा गया है कि राष्ट्र को विश्वास में लेने के लिए सरकार ने संसद का संयुक्त सत्र बुलाने का निर्णय किया है। क्षेत्र में भारत की गैर जवाबदेही वाली नीति का भांडाफोड़ करने के लिए खान वैश्विक नेतृत्व के साथ वार्ता भी करेंगे।

पाकिस्तान जब तक आतंकियों को पनाह बंद नहीं करता, उसे अमेरिकी सहायता नहीं देना चाहिए : हेली



वाशिंगटन/न्यूयार्क। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की पूर्व दूत रहीं निक्की हेली ने कहा है कि पाकिस्तान का आतंकवादियों को शरण देने का एक लंबा इतिहास रहा है और जब तक वह अपना व्यवहार सुधार नहीं लेता तब तक अमेरिका को चाहिए कि वह इस्लामाबाद को एक डॉलर भी नहीं दे। भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक निक्की हेली ने पाकिस्तान के लिए वित्तीय सहायता को बुद्धिमानी से प्रतिबंधित करने के लिए ट्रंप प्रशासन की सरहाना भी की।

हेली ने एक नए नीति समूह ‘स्टैंड अमेरिका नाउ’ की स्थापना की है जो इस बात पर ध्यान केंद्रित करेगा कि अमेरिका को सुरक्षित, मजबूत और समृद्ध कैसे रखा जाए। हेली ने एक स्तंभ (ऑप-एड) में लिखा है कि जब अमेरिका राष्ट्रों को सहायता मुहैया कराता है तब ”यह पूछना अधिक उचित है कि हमारी उदारता के बदले में अमेरिका को क्या मिलता है।

लेकिन इसके बजाय पाकिस्तान ने नियमित रूप से कई मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी रूख का विरोध किया है। फॉरेन एड शुड ओनली गो टू फ्रेंड शीर्षक वाले स्तंभ में निक्की ने लिखा है, 2017 में पाकिस्तान को करीब एक अरब डॉलर की अमेरिकी विदेशी सहायता मिली। अधिकतर सहायता पाकिस्तानी सेना के पास चली गई।

शेष सहायता पाकिस्तानी लोगों की मदद के लिए सड़क, राजमार्ग और ऊर्ज़ा परियोजनाओं पर खर्च हुई। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में सभी महत्वपूर्ण मतदानों पर पाकिस्तान ने आधे से अधिक बार अमेरिकी रूख का विरोध किया है। सबसे ज्यादा परेशानी वाली बात यह है कि पाकिस्तान का अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों को मारने वाले आतंकवादियों को शरण देने का भी लंबा इतिहास है।

दक्षिण कैरोलिना की पूर्व गर्वनर निक्की ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने पहले ही बुद्धिमानीपूर्वक पाकिस्तान की सहायता रोक दी है लेकिन अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। निक्की हेली पिछले साल के अंत में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत के पद से हट गई थीं। उन्होंने अमेरिका से अरबों डॉलर की सहायता लेने के बावजूद अमेरिकी सैनिकों को लगातार मारने वाले आतंकवादियों को शरण देने को लेकर पूर्व में भी पाकिस्तान की कड़ी आलोचना की थी।

नवजो​त सिंह सिद्धू के बयान का समर्थन करने पर बिग बॉस विनर को मिली रेप की धमकी



एंटरटेमेंट डेस्क। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में सीआरपीएफ के 14 जवान शहीद हुए थे। इस हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बयान दिया था। जिसके बाद से सिद्धू अपने इस बयान को लेकर ट्रोल हो गए और विरोध का सामना करना पडा। बाद में सिद्धू को द कपिल शर्मा शो से भी निकाल दिया। लेकिन नवजोत​ सिंह सिद्धू के इस बयान का बिग बॉस विनर शिल्पा शिंदे ने समर्थन किया है। 

शिल्पा शिंदे ने सिंद्धू के बयान को सही ठहराते हुए पाकिस्तानी कलाकारों का विरोध करने के फैसले को गलत बताया था। इसके बाद से शिल्पा को लोगों के विरोध का सामना करना पड रहा है। तो वहीं हाल ही में शिल्पा ने आरोप लगाया कि इस बयान के बाद उन्हें रेप और जान से मारने की धमकी दी जा रही है। 

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शिल्पा ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का समर्थन करते हुए कहा था कि मैं इस तरह की सभी प्रक्रिया के खिलाफ हूं जहां किसी के विचार से नहीं मिलने पर उन्हें बैन कर दिया जाए। यहीं नहीं इसमें CINTAA और बाकी इंडस्ट्री के लोग भी बराबर तौर पर शामिल है। इसके बाद शिल्पा ने कहा था कि सभी को अपनी तरह से काम करने का अधिकार है। कोई किसी की भी रोजी रोटी कैसे छीन सकता है।

आप किसी की भी प्रतिभा को रोक नहीं सकते। मैं बॉलीवुड में पाकिस्तानी कलाकारों के काम नहीं करने देने के पक्ष में नहीं हूं। मैं इस तरह के बैन करने की संस्कृति की शिकार रह चुक हूं इसलिए मुझे पता है कि इसमें क्या गलत है। इसके बाद शिल्पा शिंदे को अपने इस बयान के कारण लोगों के विरोध का सामना करना पड रहा है। शिल्पा का आरोप है कि इस बयान के बाद उन्हे जान से मारने और रेप की धमकी दी जा रही है। शिल्पा ने कहा कि वे इस मामले में लीगल एक्शन लेगी। 

अंतरराष्ट्रीय मैच: हरमनप्रीत अब भी चोटिल, टी20 में मंधाना करेगी भारत की अगुवाई



मुंबई। नियमित कप्तान हरमनप्रीत कौर के टखने की चोट की वजह से बाहर होने के कारण सलामी बल्लेबाजी स्मृति मंधाना इंग्लैंड के खिलाफ अगले महीने होने वाली तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारतीय टीम की अगुवाई करेंगी। बीसीसीआई के बयान के मुताबिक हरमनप्रीत अभी टखने की चोट से नहीं उबर पाई है। वह चोटिल होने के कारण तीन वनडे मैचों की श्रृंखला में भी नहीं खेल पाई थी। 

अखिल भारतीय महिला चयनसमिति ने मंधाना की अगुवाई में 15 सदस्यीय टीम घोषित की जिसमें वनडे कप्तान मिताली राज भी शामिल हैं। मंधाना अभी वर्ष की आईसीसी क्रिकेटर है। मध्यक्रम की बल्लेबाज वेदा कृष्णमूर्ति और प्रिया पूनिया ने टीम में वापसी की है। आक्रामक बल्लेबाज भारतीय फुलमाली और बायें हाथ की तेज गेंदबाज कोमल जांजाद टीम में शामिल दो नए चेहरे हैं। टी20 श्रृंखला का पहला मैच चार मार्च, दूसरा सात मार्च और तीसरा नौ मार्च को खेला जाएगा। सभी मैच गुवाहाटी में होंगे। 

भारतीय महिला टी 20 टीम इस प्रकार है : स्मृति मंधाना (कप्तान), मिताली राज, जेमिमा रोड्रिग्स, दीप्ति शर्मा, तान्या भाटिया (विकेट कीपर), भारती फुलमाली, अनुजा पाटिल, शिखा पांडे, कोमल ज़ांज़ाद, अरुंधति रेड्डी, पूनम यादव, एकता बिष्ट, राधा यादव, वेदा कृष्णमूर्ति, हरलीन देओल। 

छह भारतीय मकरान कप मुक्केबाजी टूर्नामेंट के फाइनल में



नई दिल्ली। राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता मुक्केबाजों मनीष कौशिक (60 किग्रा) और सतीश कुमार (91 किग्रा से अधिक) की अगुआई में छह भारतीय मुक्केबाजों ने ईरान के चाबहार में मकरान कप के फाइनल में जगह बनाई। सोमवार शाम हुए सेमीफाइनल मुकाबलों में दीपक सिह (49 किग्रा), पी ललिता प्रसाद (52 किग्रा), संजीत (91 किग्रा) और दुर्योधन सिंह नेगी (69 किग्रा) भी फाइनल में प्रवेश करने में सफल रहे।

राष्ट्रीय चैंपियन कौशिक ने अशकान रेइजाई को 4-1 से शिकस्त दी। वे बुधवार को फाइनल में दानिल बक्श शाह से भिड़ेंगे। मंगलवार को टूर्नामेंट में आराम का दिन है। एशियाई खेलों के पूर्व कांस्य पदक विजेता सतीश ने एकतरफा मुकाबले में ईमान रमजान को 5-0 से शिकस्त दी और फाइनल में उनका सामना मोहम्मद मलियास से होगा।

दीपक ने भी एकतरफा मुकाबले में मलिक अमारी को 5-0 से शिकस्त दी और फाइनल में उनकी भिड़ंत जाफर नसेरी से होगी। प्रसाद से फिलिपीन्स के मार्विन तोबामो को हराया और फाइनल में वह ओमिद साफा अहमादी के खिलाफ उतरेंगे। पिछले साल इंडिया ओपन में स्वर्ण पदक जीतने वाले संजीत ने पोर्या अमीरी को 5-0 से हराया और फाइनल में उनका सामना अहसन बहानी रोज से होगा।

दुर्योधान ने सेमीफाइनल में अली मारोदी को हराया। फाइनल में उनका सामना सज्जाद केजेम से होगा। रोहित टोकस (64 किग्रा) और मनजीत सिह पंघल (75) को हालांकि सेमीफाइनल में क्रमश: बागेर फराजी और सिना सफदारियां के खिलाफ शिकस्त से कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

240 अंक की गिरावट के साथ 35,974 अंक के स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स



मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सुबह कारोबार की शुरूआत गिरावट के साथ लाल निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये लाल निशान पर ही बंद हुआ। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 239.67 अंक यानि 0.66 प्रतिशत की गिरावट के साथ 35,973.71 अंक के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये 44.80 अंक यानि 0.41 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,835.30 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान सुबह शेयर बाजार बढ़त के साथ हरे निशान पर खुला और हरे निशान पर ही बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 65.93 अंक यानि 0.18 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 35,937.41 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 341.90 अंक यानि 0.95 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,213.38 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 8.75 अंक यानि 0.081 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,800.40 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 88.45 अंक यानि 0.82 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,880.10 के स्तर पर बंद हुआ।

 
प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMN

 

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: