पुलवामा में UP के शहीद जवानों के परिवारीजन बोले दिल को मिला सुकून मोदी सरकार का फर्स्ट क्लास कदम

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


लखनऊ । जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में 44 शहीद में से उत्तर प्रदेश के 12 के परिवार के लोग आज लाइन ऑफ कंट्रोल पर भारतीय वायुसेना की आतंक के अड्डों पर कार्रवाई से थोड़ा संतुष्ट तो हैं, लेकिन यह लोग अभी और बड़ी कार्रवाई चाहते हैं। शहीद सीआरपीएफ के जवान के परिवार के लोगों को अब हाफिज सईद की मौत का इंतजार है। पुलवामा में शहीद भारतीय जवानों की तेरहवीं से एक दिन पहले आज तड़के भारतीय वायुसेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर आतंकियों के ट्रेनिंग कैंप पर 21 मिनट तक बमबारी की। जिससे बड़ी संख्या में आतंकी मारे गए हैं। एयर स्ट्राइक से भारत ने पुलवामा का बदला लिया है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल को क्रॉस कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के कई लांच पैड को तबाह किया है। भारतीय वायु सेना के मिराज 2000 फाइटर जेट्स ने आज तड़के मुजफ्फराबाद, बालाकोट और चकोटी के कई ठिकानों पर बमबारी की। सुबह 3.30 बजे हुई इस एयर स्ट्राइक में करीब 200-300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। विमानों ने आतंकी कैंप पर करीब 1000 किलोग्राम के बम बरसाए। इसमें जैश के अल्फा-3 के कंट्रोल रूम तबाह हो गए हैं। शहीद अजीत सिंह की मां बोलीं दिल को मिला सुकून उन्नाव के शहीद अजीत सिंह की मां राजवंती ने कहा पाकिस्तान पर प्रधानमंत्री ने जो अटैक कराया है वह शहीद सैनिकों की माताओं दिल को सुकून देने वाला है। सिर्फ ठिकाने नष्ट करने से काम नहीं चलेगा आतंकवाद का खात्मा करने के लिए सीधा हमला होना चाहिए सही मायने में छाती को ठंडक तब आएगी जब आतंकवाद का पोषक पाकिस्तान भारत के सामने घुटने टेकेगा। वहीं दूसरी ओर शहीद अजीत कुमार आजाद की पत्नी मीना ने कहा की सुबह टीवी पर खबर सुनते ही कलेजे को ठंडक पहुंची लेकिन अभी पूरी तरह से पूरी तरह से संतुष्ट नहीं हूं इससे और बड़ा हमला होना चाहिए सार्थक हमला तब होगा जब पाकिस्तान खुद कहे हमारे इतने हजार लोग भारतीय सेना ने मार गिराया है। आज की जो सर्जिकल स्ट्राइक हुई है वह हमारे सैनिकों की जा बाजी का प्रमाण है। अगर प्रधानमंत्री उन्हें छूट दे देंगे तो वह अपने सैनिक भाइयों का बदला पाकिस्तान में घुसकर ले लेंगे।शहीद रमेश के परिजनों को सर्जिकल स्ट्राइक की खबर ने दी तसल्ली पुलवामा में शहीद वाराणसी के रमेश यादव के बड़े भाई राजेश यादव ने कहा कि मोबाइल पर न्यूज चैनल देख रहा हूं। पूरा परिवार इस वक्त गंगा किनारे रमेश के अंतिम के संस्कार के तहत नारायनी संस्कार में शामिल है। गांव के भी लोग मौजूद हैं। बता नहीं सकता कि पाकिस्तान पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक की खबरों को देखकर दिल का कितनी तसल्ली मिल रही है। भारत सरकार ऐसे ही लगातार पाकिस्तान और आतंकवादियों को जवाब देता रहे। रमेश के परिजनों का कहना है कि भारत सरकार को सबसे पहले कश्मीर में बैठे अलगाववादियों पर भी शिकंजा कसना चाहिए। वहां की अशांति की जड़ में अलगाववादी ही हैं। परिवार वालों ने कहा कि आज वायुसेना की इस बड़ी कार्रवाई से थोड़ी रहत मिली है, लेकिन अभी भी हम पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है। यह कार्रवाई तब तक जारी रहनी चाहिए जब तक की पाकिस्तान से आतंकवाद का नमो निशान मिट नहीं जाता। शहीद रमेश यादव के साले राहुल यादव ने कहा कि वायुसेना के कार्रवाई की खबर मिली है। अभी हम संतुष्ट नहीं हैं। सिर्फ दो-तीन सौ आतंकी नहीं 3000 को मरना है। अभी और कार्रवाई चाहिए। हमले तब तक होते रहना चाहिए जब तक कि आतंकवाद खत्म नहीं हो जाता।सेना ने अब जो शुरू किया है, उसे रोकना नहीं चाहिए कन्नौज के शहीद प्रदीप सिंह के भाई कुलदीप ने इस कार्रवाई पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा सेना ने अब जो शुरू किया है, उसे रोकना नहीं चाहिए। कार्रवाई जब तक जारी रहनी चाहिए, जब तक कि उनका जड़ से सफाया न हो जाए। सेना के इस कदम ने सिर्फ उनका ही नही देश के सभी शहीदों के परिजनों और देश के लोगों का सर गर्व से ऊंचा किया है। वहीं उनके पिता अमर सिंह का कहना है, सेना की कार्रवाई से वो खुश हैं, मगर हमें इतने मात्र से खुश होकर नहीं बैठ जाना चाहिए। अब जो शुरू किया है उस मिशन को खत्म कर ही बैठें। उन्होंने ये भी कहा, पाकिस्तान जैसे देश से हर तरह के संबंध खत्म कर देने चाहिए। अब किसी भी तरह की बातचीत न हो।शहीद अवधेश के पिता ने कहा, ऐसे ही मिले करारा जवाब पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए अवधेश कुमार यादव के पिता हरकेश यादव ने कहा कि भारतीय सेना की कार्रवाई पर मुझे गर्व है। इससे बड़ी कार्रवाई की जरूरत है।पाकिस्तान और आतंकियों को ऐसा करारा जवाब मिलना चाहिए कि वे फिर कभी भारतीय जवानों पर हमले की बात सपने में भी न सोच सकें। सेना जवानों के शहादत का बदला अपने तरीके से ले रही है।इंतजार उस दिन का जब पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद की मौत होगी पुलवामा में शहीद कानपुर देहात के श्याम बाबू की पत्नी रूबी ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के खिलाफ इससे भी बड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें इंतजार उस दिन का हैं जब पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद की मौत होगी। उन्होंने पीएम मोदी को संदेश देते हुए कहा कि जैसा मेरे साथ हुआ है ऐसा किसी के साथ ना हो। रूबी कहती हैं कि हम मोदी सरकार से यहीं कहेंगे खून का बदला खून से ले।सरकार से ऐसी ही उम्मीद थी शहीद श्यामबाबू के पिता रामप्रसाद को सुबह जैसे ही गांव के कुछ लोगों ने जानकारी दी तो कुछ देर के लिए चुप रहे और उनके आंखों से आंसू बह चले। उन्होंने कहा कि देश ने अपने खोये लालों का बदला ले लिया, पाकिस्तान को उसकी औकात बता दी, शहीद के भाई कमलेश ने कहा, भारतीय सेना ने मेरे शहीद भाई का बदला ले लिया है, शहीद की पत्नी रूबी ने कहा, पति तो वापस नहीं आ सकते लेकिन भारतीय सेना ने जो किया उससे देश का सिर ऊंचा हो गया है।पाकिस्तान को एक बड़ा संदेश जाए जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में देवरिया के शहीद विजय कुमार मौर्य की पत्नी विजय लक्ष्मी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी को पुलवामा हमले के पीछेमोस्ट वांटेड आतंकी और मास्टरमाइंड हाफिज सईद को मौत के घाट उतार देना चाहिए। जिससे पाकिस्तान को एक बड़ा संदेश जाए। शहीद पंकज त्रिपाठी पत्नी ने कहा कलेजे को मिली ठंडक महराजगंज के शहीद पंकज त्रिपाठी की पत्नी ने कहा कि पाकिस्तान से बदला लेने की खबर सुनी तो कलेजे को ठंडक मिली। इसी तरह भारतीय सेना को पाकिस्तान में घुस कर आतंकियों को मारना चाहिए। शहीद पंकज त्रिपाठी की पत्नी रोहिणी त्रिपाठी ने पीओके में घुस कर आतंकियों के मार गिराने की सेना की कार्रवाई पर गर्व व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना को ढूंढ-ढूंढ कर आतंकियों का सफाया करना चाहिए। कार्रवाई का यह सिलसिला तब तक लगातार चलना चाहिए जब तक आतंकियों का धरती से नामोनिशान न मिट जाए। हमें तभी शांति मिलेगी जब हर आतंकी का शरीर टुकड़े-टुकड़े हो जाए। आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की सूचना अमर शहीद पंकज त्रिपाठी की पत्नी रोहिणी को आज तब मिली जब वह सास-ससुर के साथ अयोध्या में साड़ी छोडऩे जा रही थी। शहीद के पिता ओम प्रकाश त्रिपाठी ने कहा जारी रहे सैन्य कार्रवाई शहीद पंकज त्रिपाठी के पिता ओम प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि सेना की यह कार्रवाई तब तक चलनी चाहिए जब तक सभी आतंकियों का खात्मा न हो जाए और पाकिस्तान शरणागत न हो जाए। सभी आतंकियों के सफाए के बाद फिर कभी किसी जवान को शहादत न देनी पड़े और उसके माता-पिता की बुढ़ापे की लाठी ना टूटे। उन्होंने कहा कि हमें सैन्य कार्रवाई की सूचना अयोध्या में मिली तो कलेजे को ठंडक मिली। हमें भारतीय सेना पर गर्व है और आगे भी रहेगा। मोदी सरकार का फर्स्ट क्लास कदम पुलवामा हमले में शहीद हुए आगरा के कौशल कुमार रावत के परिजनों ने कहा मोदी सरकार का फर्स्ट क्लास कदम है। बेटे अभिषेक और माँ ममता ने कहा आज खुशी मिली बदला पूरा हुआ। उन्होंने कहा कि हमे विश्वास है सरकार ने दुश्मनों के खात्मे को काम शुरू कर दिया है। जल्द ही उनका खात्मा होगा। जो कार्यवाही हुई है सही हुई है इससे भी बड़ी कार्यवाही होनी चाहीये आतंकवादी घटना के विरोध में भारत द्वारा सैन्य कार्यवाही से पुलवामा हमले में इटावा के शहीद रामवकील के 12वर्षीय पुत्र राहुल ने खुशी जताई कहा ये जो कार्यवाही हुई है सही हुई है इससे भी बड़ी कार्यवाही होनी चाहिए आतंकवाद को जड़ से ख़त्म करने की ज़रूरत है। अब किसी की मांग का सिन्दूर न मिटे कन्नौज के शहीद की पत्नी नीरज देवी का का कहना है, वो सेना की कार्रवाई से संतुष्ट हैं। जब तक भारत देश (जम्मू-कश्मीर भी शामिल करते हुए) से आतंकवाद खत्म नहीं हो जाता, सेना को कार्रवाई नहीं रोकनी चाहिए। हमने 44 से ज़्यादा जवान खो दिए हैं, उनमे कोई किसी का बेटा, पति था। वो अभी भी अपने इन बेटों को याद कर रो पड़ते हैं। जो हुआ, अब वो न हो। अब किसी का बेटा न खोए, अब किसी की मांग का सिन्दूर न मिटे। उन्होंने ये भी कहा, देश के अंदर जो आतंकी हैं, उन्हें भी ऐसी ही सजा देनी चाहिए। ऐसी सजा कि कोई भारत के खिलाफ साजिश रचने की हिम्मत न कर सके। उन्होंने मांग की, सेना को अधिक से अधिक सुविधाएं दी जाएं, ताकि पुलवामा जैसा हमला फिर कभी न हो। इसी तरह आतंकियों का खून बहाता रहे भारत मैनपुरी के बरनाहल के गांव विनायकपुर के शहीद सीआरपीएफ जवान रामवकील के परिजनों ने भारत के बदले से संतुष्टि जताई। शहीद की पत्नी गीता देवी का कहना है कि कार्रवाई का ये सिलसिला जारी रहना चाहिए। उम्मीद है कि सरकार हर आतंकवादी को खत्म करेगी। शहीद के 12 वर्षीय पुत्र राहुल ने कहा कि आतंकियों को जड़ से खत्म करना चाहिए। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इस हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि इस हमले का करारा जवाब दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि भारत ने इस हमले का बदला लेने के लिए अपने सुरक्षाबलों को खुली छूट दे दी है।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: