लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे का तीन मार्च को होगा शिलान्यास, इन गांवों से होकर जाएगा

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


लखनऊ । केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह तीन मार्च को लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करेंगे। इस एलीवेटेड एक्सप्रेस वे के बनने से दोनों शहरों के बीच की दूरी 40 से 50 मिनट में पूरी हो जाएगी। ये एलीवेटेड एक्सप्रेस-वे उन्नाव और कानपुर की सीमा के अंतिम गांव कोरिरिकलां तक बनेगा। पुल कानपुर की सीमा से पहले ही समाप्त होगा। यह एक्सप्रेस वे लखनऊ और उन्नाव के 63 गांवों से होकर गुजरेगा। 45 मिनट के भीतर ये कानपुर की सीमा तक ट्रांस गंगा सिटी तक पहुंचा देगा। केंद्रीय गृहमंत्री के प्रतिनिधि दिवाकर त्रिपाठी ने यह जानकारी दी। त्रिपाठी ने बताया कि लखनऊ-कानपुर एलीवेटेड हाईवे के रास्ते में 63 ग्राम पंचायतों की जमीन आ रही है, जिससे हजारों ग्रामीणों की भूमि प्रभावित होगी। किसानों को सर्किल रेट के आधार पर मुआवजा नेशनल हाईवे अथॉरिटी देगी। केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रलय ने इस आशय का गजट किया है। इन गांवों से कितनी कितनी भूमि ली जाएगी, इसका गजट भी जल्द किया जाएगा। इस एलीवेटेड एक्सप्रेस वे के बनने से लखनऊ-कानपुर के बीच की दूरी 40 से 50 मिनट में पूरी हो जाएगी। लखनऊ और उन्नाव की विभिन्न तहसीलों के गांव इस एक्सप्रेस वे की जद में आ रहे हैं। उन्नाव और कानपुर की सीमा के अंतिम गांव कोरिरिकलां तक ये एलीवेटेड एक्सप्रेसवे बनेगा। कानपुर की सीमा से पहले ही पुल समाप्त होगा। इसलिए गंगा पर कोई नया पुल नहीं बनाया जाएगा।सरोजनी नगर तहसील के पिपरसंड, औरवां, रामचौरा, दादूपुर, खंडदेव, भोकापुर, सारे सहजादी, बानी, बंथरा सिकंदरपुर, मीरनापुर पींवत, नाटकुर, खसवारा, बेहसा, अमौसी, गहरू, फरुखाबाद चिल्लावां, रहीमाबाद और गौरी।हसनगंज तहसील उन्नाव बजेहरा, हसनपुर, हिनोरा, टंडवा हीरा कुड्डी।पुरवा तहसील, उन्नाव कशीपुर, सहारावन, सहाबाद ग्रांट, बीकमौ, कंथा, सुरजापुर, सैदपुर, बछौरा, सरिया, मर्िीखुर्द, मानिकापुर, मैदपुर, कुदिकपुर, राशिदपुर, तुरी राजा साहिब, तुरिक्षबिनाथ, रायपुर, बेहटा। उन्नाव तहसील, उन्नाव बेहटा, तौर, पाठकपुर, खरगीखेड़ा, गाओं, मीरपुर, भाटखेरवा, जगत, पाऊंगा, गौरीशंकरपुर ग्रांट, तिवारीखेड़ा, पादरी खुर्द, नेवरना, पादरी कलां, डेरवा खास, शिवपुर ग्रांट, मोहिउद्दीनपुर खास, कोरारी कलां, कोरारिखुर्द, अमरसुस, दौलतपुर, बंथर, अत, करौंदी, ताजपुर, जगजीवनपुर, कुर्मपुर, पोनी, कदर पटरी, बदरका हरवंश, रावल और कोरिरि कलां।पिपरसंड से होगी शुरुआत राजधानी में सरोजनी नगर तहसील में पहला गांव पिपरसंड होगा। इस तहसील के 18 गांव इसमें शामिल होंगे। इसके आगे हसनगंज तहसील के चार गांव होंगे फिर उन्नाव की पुरवा तहसील के 18 गांवों में जमीन ली जाएगी। आखिर में उन्नाव तहसील के 32 गांवों का हिस्सा होगा, जिसमें बंथरा का औद्योगिक क्षेत्र भी शामिल होगा।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: