17 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMNभारत सरकार का बड़ा फैसला, 6 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ली

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में मीरवाइज उमर फारुक सहित छह अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा रविवार को वापस ले ली गई। यह फैसला पुलवामा आतंकवादी हमले के मद्देनजर लिया गया है। अधिकारियों ने यहां बताया कि मीरवाइज के अलावा अब्दुल गनी भट, बिलाल लोन, हाशिम कुरैशी, फजल हक कुरैशी एवं शबीर शाह को दी गई सुरक्षा वापस ले ली गई है।

हालांकि आदेश में पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी सैयद अली शाह गिलानी का जिक्र नहीं है। इन नेताओं को दी गई सुरक्षा को किसी श्रेणी में नहीं रखा गया था लेकिन राज्य सरकार ने कुछ आतंकवादी समूहों से उनके जीवन को खतरा होने के अंदेशे को देखते हुए केंद्र के साथ सलाह-मशविरा कर उन्हें खास सुरक्षा दी हुई थी।  आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकियों ने 1990 में उमर के पिता मीरवाइज फारूक की तथा 2002 में अब्दुल गनी लोन की हत्या कर दी थी । पाकिस्तान समर्थक नेता सैयद अली शाह गिलानी एवं जेकेएलएफ के प्रमुख यासिन मलिक को कोई सुरक्षा नहीं दी गई थी। अधिकारियों ने बताया कि आदेश के मुताबिक अलगाववादियों को दी गई सुरक्षा एवं उपलब्ध कराए गए वाहन रविवार शाम तक वापस ले लिए जाएंगे।

किसी भी बहाने से उन्हें या किसी भी अलगाववादी नेता को सुरक्षा या सुरक्षाकर्मी नहीं मुहैया कराए जाएंगे। अगर सरकार ने उन्हें किसी तरह की सुविधा दी है तो वह भी भविष्य में वापस ले ली जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिस इस बात की समीक्षा करेगी कि अगर किसी अन्य अलगाववाजी के पास सुरक्षा या अन्य कोई सुविधा है तो उसे तत्काल वापस ले लिया जाएगा। गृहमंत्री राजनाथ सिह ने शुक्रवार को श्रीनगर दौरे पर कहा था कि पाकिस्तान एवं उसकी जासूसी एजेंसी आईएसआई से निधि प्राप्त करने वाले लोगों को दी गई सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी।

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में हुए कायराना आतंकवादी हमले के बाद सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते हुए सिह ने कहा था, “जम्मू-कश्मीर में कुछ ऐसे तत्व हैं जिनके संपर्क आईएसआई एवं आतंकवादी संगठनों से है। उनको दी गई सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी। जम्मू-कश्मीर में बृहस्पतिवार को हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकवादी हमले में से एक में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाक स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरे वाहन से बल के एक वाहन को टक्कर मार दी थी।

हुर्रियत के प्रवक्ता ने इस शासकीय आदेश को दुष्प्रचार करार दिया और कहा कि इसका कश्मीर विवाद या जमीनी स्थिति से कोई संबंध नहीं है और यह किसी भी तरह से सच को नहीं बदल सकता। प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा कि हुर्रियत के आवास पर इन पुलिसकर्मियों के होने या नहीं होने से स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि जब भी कोई मुद्दा बना है मीरवाइज ने जामिया मस्जिद के मंच से घोषणा की है कि सरकार सुरक्षा वापस ले सकती है। मीरवाइज कश्मीर घाटी के धर्मगुरुओं में से एक है। प्रवक्ता ने कहा कि हुर्रियत नेता ने कभी भी सुरक्षा नहीं मांगी है। 

शंकराचार्य ने अयोध्या के लिए रामाग्रह यात्रा स्थगित की



प्रयागराज। ज्योतिष्पीठ और द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने पुलवामा की घटना के बाद देशहित में अयोध्या में राम मंदिर के लिए रामाग्रह यात्रा और शिलान्यास का कार्यक्रम रविवार को स्थगित कर दिया। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद के शिष्य प्रतिनिधि और श्रीराम जन्मभूमि रामाग्रह यात्रा के संयोजक स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने शंकराचार्य की ओर से रविवार को बताया कि स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के बावजूद शंकराचार्य यात्रा करने पर अडिंग थे।

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने बताया कि सुबह जब उनके शिष्यों और सहयोगियों ने टेलीविजन पर दु:खद पुलवामा घटना से जुड़े समाचार की ओर उनका ध्यान आकृष्ट कराया, तब वह शांत हो गए और कुछ देर बाद वाराणसी के जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने जब यात्रा स्थगित करने का अनुरोध किया तो शंकराचार्य ने कहा कि वह देश के साथ हैं।

उन्होंने बताया कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने पत्र लिखकर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी टेलीफोन पर शंकराचार्य से यात्रा और शिलान्यास का कार्यक्रम स्थगित करने का अनुरोध किया था। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती के अनुसार शंकराचार्य ने कहा कि यद्यपि श्रीराम जन्मभूमि के संदर्भ में उन्होंने जो निर्णय किया है वह सामयिक और है, लेकिन देश में उत्पन्न हुई इस आकस्मिक परिस्थिति के मद्देनजर उन्होंने कुछ समय के लिए यात्रा स्थगित करने का निर्णय किया है।

स्वास्थ्य खराब होने के कारण दो दिन पहले शंकराचार्य को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के सर सुंदरलाल अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था और शनिवार को वह वाराणसी के केदार घाट स्थित श्री विद्यामठ चले आये थे और रामाग्रह यात्रा के लिए रविवार को प्रयागराज आने वाले थे। गौरतलब है कि पूर्व में की गई घोषणा के मुताबिक स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कुंभ मेले में 28 से 30 जनवरी तक चली धर्मसंसद में 17 फरवरी को प्रयागराज से अयोध्या के लिए रामाग्रह यात्रा प्रारंभ कर 21 फरवरी को वहां शिलान्यास की घोषणा की थी।

एक बार फिर से बॉलीवुड की ये सदाबहार जोड़ी एक साथ आएंगी नजर, टीवी पर बिखेरेगी जलवा



नई दिल्ली। बॉलीवुड के सदाबहार अभिनेता जितेन्द्र और अभिनेत्री जयाप्रदा की सुपरहिट जोड़ी टीवी पर जलवा बिखेरने जा रही है। जीतेन्द्र और जया प्रदा की जोड़ी बॉलीवुड में कामयाब जोड़ियों में शुमार की जाती है। यह जोड़ी काफी लंबे अरसे से साथ नजर नही आई है। जितेन्द्र-जयाप्रदा की सुपरहिट जोड़ी एक बार से धमाल मचाने के लिए तैयार है, लेकिन इस बार यह जोड़ी सिल्वर स्क्रीन की जगह छोटी स्क्रीन पर नजर आएगी।

जितेन्द्र और जयाप्रदा अब एक टीवी पर आने वाले डांसिंग रियलिटी शो को जज करने वाले हैं। इस रियलिटी शो में सिर्फ 1980 और 1990 के दशक के हिट डांस नंबर्स पर परफॉर्म किया जाएगा। इस शो से जुड़ने के बाद एक्ट्रेस जयाप्रदा ने खुशी जाहिर की है।
जयाप्रदा ने कहा कि मैं इस शो के प्रतिभाशाली बच्चों को देखकर बहुत उत्साहित हूं।

इन बच्चों के माध्यम से नृत्य को इतनी खूबसूरती से देखना अद्भुत है। जितेन्द्र भी शो का हिस्सा बनने पर बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ काम करना सुखद है, क्योंकि मेरा पोता लक्ष्य भी इन डांसर कंटेस्टेंट की तरह एनर्जेटिक है तो मुझे सभी से एक अलग ही लगाव महसूस हो रहा है।

बॉलीवुड की ये हॉट अदाकारा इन दिनों अपनी नई मूवी लुका-छुपी के प्रमोशन में बिजी



मुंबई। आजकल बॉलीवुड की हॉट अभिनेत्री कृति सैनन मराठी सीख रही हैं। कृति सैनन इन दिनों अपनी नई मूवी लुका-छुपी के प्रमोशन में बिजी हैं। इस फिल्म के बाद वह अपनी अगली फिल्म ‘पानीपत’ की शूटिंग करना शुरू करेंगी। आशुतोष गोवारिकर निर्देशित इस पीरियड फिल्म में कृति पहली बार मराठी किरदार निभाने वाली हैं।

कृति इसके लिए खास तैयारी में भी जुटी हुई हैं। कृति इस फिल्म में मराठा योद्धा सदाशिव राव की पत्नी पार्वती बाई का रोल निभा रही हैं। सदाशिव राव ने पानीपत के तीसरे युद्ध में अफगानों के खिलाफ लोहा लिया था। कृति सैनन ने बताया कि मैं नॉर्थ इंडियन पंजाबी लड़की हूं, तो मेरे लिए मराठी किरदार करना नार्थ पोल-साउथ पोल जितना अलग था।

मराठी का अपना एक लिंगो है, जिसे मैं अपने किरदार के लिए इस्तेमाल कर रही हूं, जिससे वह ज्यादा मराठी लगे। इसके लिए मैंने थोड़ी-बहुत मराठी सीखी भी है। इसके अलावा, अगर सेट पर भी कोई मराठी में बोलता है, तो मैं पूछती रहती हूं कि इसका क्या मतलब है? कृति सैनन ने कहा कि मैं किसी भी भाषा का उच्चारण आसानी से कर लेती हूं।

मैंने दो तेलुगु फिल्में भी की हैं। वैसे, तेलुगु भाषा मुझे नहीं आती, लेकिन कोई मुझे तेलुगु डायलॉग दे, तो मैं उसे अच्छे से बोल सकती हूं। ऐसे ही, यदि आप मुझे मराठी के शब्द दे दो, तो मैं उन्हें अच्छे से बोल दूंगी। मैंने थोड़ी मराठी क्लासेज भी लीं, लेकिन हम हिंदी फिल्म बना रहे हैं, तो मुझे पूरी भाषा सीखने की जरूरत नहीं थी।

इतना जानना काफी है कि यह लाइन मुझे मराठी में बोलनी है, तो मैं कैसे बोलूंगी और उसका मतलब क्या है? इसके अलावा, कुछ ऐसे शब्द होते हैं, जिनका कोई मतलब नहीं होता है, लेकिन बातचीत में वह फ्लेवर जोड़ देते हैं, यही मैंने अपने मराठी टीचर के साथ कोशिश की कि एकाध शब्द यहां-वहां जोड़कर उसमें मराठी फ्लेवर ला पाऊं।

आईसीजे जाधव मामले में 18 फरवरी से करेगा सार्वजनिक सुनवाई



द हेग। अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) द हेग में सोमवार से कुलभूषण जाधव के मामले में सार्वजनिक सुनवाई करेगा, जिसमें भारत और पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अदालत के समक्ष अपनी-अपनी दलीलें पेश करेंगे। द्बितीय विश्वयुद्ध के बाद अंतरराष्ट्रीय विवादों को हल करने के लिए आईसीजे की स्थापना की गई थी।

पाकिस्तानी सेना की अदालत ने अप्रैल 2017 में जासूसी और आतंकवाद के आरोपों पर भारतीय नागरिक जाधव (48) को मौत की सजा सुनाई थी। भारत ने इसके खिलाफ उसी साल मई में आईसीजे का दरवाजा खटखटाया था। आईसीजे की 10 सदस्यीय पीठ ने 18 मई 2017 में पाकिस्तान को मामले में न्यायिक निर्णय आने तक जाधव को सजा देने से रोक दिया था।

आईसीजे ने हेग में 18 से 21 फरवरी तक मामले में सार्वजनिक सुनवाई का समय तय किया है और मामले में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले हरीश साल्वे के 18 फरवरी को पहले दलीलें पेश करने की संभावना है। पाकिस्तान के वरिष्ठ अधिवक्ता खावर कुरैशी 19 फरवरी को देश की ओर से दलीलें पेश करेंगे। इसके बाद भारत 20 फरवरी को इस पर जवाब देगा जबकि इस्लामाबाद 21 फरवरी को अपनी आखिरी दलीलें पेश करेगा। ऐसी उम्मीद है कि आईसीजे का फैसला 2019 की गर्मियों में आ सकता है। 

पुलवामा हमला: ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को जम्मू-कश्मीर के ज्यादातर हिस्सों में नहीं जाने की सलाह दी



लंदन। ब्रिटेन सरकार ने भारत के लिए अपना यात्रा परामर्श अद्यतन कर कुछ चुनिंदा इलाकों को छोड़कर जम्मू-कश्मीर की यात्रा से परहेज करने की चेतावनी दी है। इस बीच, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए जघन्य आतंकवादी हमले के विरोध में शनिवार को लंदन स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के बाहर भारतीय मूल के लोगों ने प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते गुरूवार को सीआरपीएफ के एक काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ जिसमें इस अर्धसैनिक बल के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए। पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

पुलवामा हमले की कड़ी निंदा कर चुके ब्रिटेन के विदेश एवं राष्ट्रमंडल कार्यालय (एफसीओ) ने ब्रिटिश नागरिकों को चेतावनी दी है कि वे पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों और पर्यटक स्थलों पर जाने से परहेज करें। अद्यतन परामर्श के अनुसार  ब्रिटिश नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों या इसके आसपास जाने से मना किया गया है।

हालांकि, वे वाघा जा सकते हैं। इसके अलावा, जम्मू शहर में घूम सकते हैं। हवाई मार्ग से जम्मू जा सकते हैं और लद्दाख क्षेत्र के भीतर यात्रा कर सकते हैं। एफसीओ ने ब्रिटिश नागरिकों को पहलगाम, गुलमर्ग और सोनमर्ग जैसे पर्यटन स्थलों पर नहीं जाने की सलाह दी है। परामर्श में कहा गया है कि वे श्रीनगर जाने से परहेज करें और यदि ऐसा न हो सके तो बहुत जरूरी होने पर ही वहां जाए। उन्हें जम्मू और श्रीनगर के बीच जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजर्मा पर जाने से भी परेहज करने को कहा गया है।

शाहजहांपुर: मासूम से दुष्कर्म करने वाला चचेरे भाई गिरफ्तार



शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र में बीते दिनों हुई नाबालिग की हत्या और दुष्कर्म के आरोपित युवक को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। मृतक बच्ची रिश्ते में आरोपित की चचेरी बहन लगती थी। वहीं, युवक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक द्बारा उस पर पच्चीस हजार का इनाम भी घोषित किया गया था।

पुलिस अधीक्षक एस चनप्पा ने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र के मोहल्ला मघईटोला निवासी सात बर्षीय तबस्सुम खेलते खेलते लापता हो गई थीं । परिजनों द्बारा 8 फरवरी को उसके गुमशुदा होने को एफआईआर दर्ज करवाई गई। पुलिस बच्ची की खोजबीन में जुटी हुई थी।

11 फरवरी को मोहल्ले में निष्प्रयोज्य रेलवे लाइन के किनारे कूड़े के ढेर में उसका शव नग्नावस्था में उसका शव पड़ा मिला था। शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। रिपोर्ट में उसके साथ दुष्कर्म करने व गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई थी। मुकदमे में हत्या, दुष्कर्म और पास्को एक्ट की बढ़ोत्तरी करते हुए पुलिस तफ्तीश में जुट हुई थी।

इस बीच गहन जांच पड़ताल के दौरान पुलिस को मोहल्ले में ही रहने वाले उसके रिश्ते के भाई रहीम पर शक हुआ। पुलिस ने शक को पक्का करते हुए रहीम के खिलाफ पुख्ता सबूत एकत्रित किए और शनिवार सुबह मुखबिर की सूचना सदर बाजार चौराहे के पास से उसे गिरफ्तार कर लिया। 

इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो वनडे के लिए विंडीज टीम की घोषणा



बारबाडोस। वेस्ट इंडीज ने इंग्लैंड के खिलाफ 20 फरवरी से शुरू होने वाली एकदिवसीय सीरीज के पहले दो मैचों के लिए 14 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी है। एविन लेविस, रोवमैन पॉवेल और कीमो पॉल के चोटिल होने के कारण इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में बेहतर प्रदर्शन करने वाले सलामी बल्लेबाज को पहली बार वेस्ट इंडीज की वनडे टीम में शामिल किया गया है।

पांच मैचों की वनडे सीरीज में रोवमैन पॉवेल और कीमो पॉल की अनुपस्थिति में मेजबान टीम की तेज गेंदबाजी को मजबूत करने के लिए कार्लोस ब्रैथवेट और शेल्डन कॉटरेल की वनडे टीम में वापसी हुई है। वेस्ट इंडीज क्रिकेट की चयन समिति के अध्यक्ष कॉर्टनी ब्राउन ने कहा कि हमारी टीम के कुछ खिलाड़ी चोटिल हैं और वनडे टीम में शामिल किए गए खिलाड़ियों के लिए यह अच्छा मौका है कि वो बेहतर प्रदर्शन कर विश्व कप के लिए अपनी दावेदारी को मजबूत करें।

टेस्ट मैचों में आक्रामक प्रदर्शन करने वाले सलामी बल्लेबाज जॉन कैम्पबेल चोटिल एविन लेविस का स्थान लेंगे। कार्लोस ब्रैथवेट ने अपना अंतिम मैच विश्व कप क्वालिफायर्स टूर्नामेंट में खेला था जबकि शेल्डन कॉटरेल ने अपना अंतिम मैच गत वर्ष बंगलादेश के खिलाफ हुई वनडे सीरीज में खेला था।

इंग्लैंड के खिलाफ 2-1 से टेस्ट सीरीज जीतने वाली मेजबान विंडीज टीम वनडे सीरीज भी जीतकर विश्व कप के लिए अपना मनोबल बढ़ाना चाहेगी। इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो वनडे के लिए वेस्ट इंडीज की टीम इस प्रकार है: जेसन होल्डर (कप्तान) , फैबियन एलेन, देवेन्द्र बिशू, कार्लोस ब्रैथवेट, डेरेन ब्रावो, जॉन कैम्पबेल, शेल्डन कॉटरेल, क्रिस गेल, शिमरॉन हेटमेयर, शाई होप, एशेज नर्स, निकोलस पूरण, केमार रोच और ओसाने थॉमस। 

बैडमिंटन प्रतियोगिता: सायना और सौरभ फिर बने राष्ट्रीय चैंपियन, सिंधू का सपना टूटा



गुवाहाटी। पूर्व विश्व नंबर एक सायना नेहवाल ने ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता पीवी सिंधू को शनिवार को लगातार गेमों में 21-18, 21-15 से हराकर 83वीं सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता में अपना खिताब बरकरार रखा।
दूसरी वरीय सायना ने टॉप सीड सिधू को 44 मिनट में पराजित कर खुद को फिर से राष्ट्रीय क्वीन साबित किया है।

सायना ने चौथी बार यह खिताब जीता है। पुरुष एकल वर्ग में पूर्व विजेता सौरभ वर्मा ने युवा स्टार लक्ष्य सेन को 44 मिनट में 21-18, 21-13 से हराकर तीसरी बार खिताब अपने नाम किया। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और भारतीय बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष हिमांता बिस्वा सरमा ने विजेता खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया।

एकल विजेता को 3.25 लाख रुपए मिले जबकि उपविजेता को 1.7 लाख रुपए मिले। सेमीफाइनलिस्ट को 62,500 रुपए और क्वार्टरफाइनलिस्ट को 27,500 रुपए मिले। सायना ने 2017 में पिछली राष्ट्रीय चैंपियनशिप के फाइनल में भी सिंधू को हराकर खिताब जीता था और इस बार भी उन्होंने सिंधू को फाइनल में लगातार गेमों में शिकस्त दे दी। उम्मीद की जा रही थी कि 2018 के अंत में दुनिया की शीर्ष आठ खिलाड़ियों का टूर्नामेंट जीतने वाली सिंधू सायना से पिछली हार का बदला चुकाएंगी लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिल पायी।

विश्व रैंकिंग में नौवें नंबर की सायना ने छठीं रैंकिंग की सिंधू को लगातार गेमों में  पराजित कर चौथी बार राष्ट्रीय खिताब जीत लिया। सायना ने इससे पहले 2006, 2007 और 2017 में यह खिताब जीता था। वर्ष 2011 और 2013 में चैंपियन रहीं सिंधू का तीसरी बार राष्ट्रीय खिताब जीतने का सपना पूरा नहीं होे पाया। सायना ने पिछले साल गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भी सिंधू को पराजित कर स्वर्ण पदक जीता था।

फाइनल में सिंधू ने पहला अंक लिया और जल्द ही 3-0 की बढ़त बना ली। सायना ने वापसी करते हुए स्कोर 5-5 से बराबर किया। सिधू ने फिर 10-9 की बढ़त बनाई जबकि सायना पहले ब्रेक पर 11-10 से आगे हो गई। सायना ने यहां से पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपनी बढ़त को 15-11 और 18-15 पहुंचा दिया। इस बीच स्टेडियम में बिजली की गड़बड़ी के कारण कुछ देर के लिए खेल रुका। खेल शुरु होने पर सिंधू ने लगातार दो अंक लिए और स्कोर 17-18 कर दिया। लेकिन सायना ने अपनी पकड़ बनाए रखते हुए पहला गेम 21-18 पर समाप्त किया।

दूसरे गेम में सिंधू 5-3 से आगे हुईं लेकिन सायना ने 5-5 से बराबरी की। स्कोर फिर 7-7 पर बराबर हुआ। पहले गेम की तरह दूसरे गेम में भी सायना ब्रेक पर 11-9 से आगे थीं। सायना ने सिंधू को गलतियां करने पर मजबूर किया और अपनी बढ़त को 15-12 पहुंचा दिया। सायना ने बढ़त को 19-13 पहुंचाने के बाद 21-15 से यह गेम समाप्त करते हुए अपना चौथा राष्ट्रीय खिताब जीत लिया।

पुरुष वर्ग में विश्व रैंकिंग में 55वें नंबर के खिलाड़ी सौरभ वर्मा ने तीसरी बार राष्ट्रीय खिताब जीत लिया। सौरभ ने 106वीं रैंकिंग के लक्ष्य सेन को 44 मिनट में 21-18, 21-13 से हराया। सौरभ ने इससे पहले 2011 और 2017 में यह खिताब जीता था। सौरभ ने 2017 के फाइनल में भी लक्ष्य को हराया था।

एशियन जूनियर चैंपियन लक्ष्य सेन ने पहले गेम में कुछ संघर्ष किया लेकिन फिर दूसरे गेम में उन्होंने अपने हथियार डाल दिए। सौरभ इस तरह फिर राष्ट्रीय चैंपियन बन गए। इस बीच पुरुष युगल में दूसरी सीड प्रणव जैरी चौपड़ा और चिराग ने फाइनल में टॉप सीड अर्जुन एमआर और श्लोक रामचंद्रन को 33 मिनट में 21-13, 22-2० से हराकर खिताब जीता।

महिला युगल का खिताब शिखा गौतम और अश्विनी ने जीता। शिखा गौतम और अश्विनी भS ने टाप सीड मेघना जे और पूर्विशा राम को 38 मिनट में 21-16, 22-20 से हराया। मिश्रित युगल में मनु अत्री तथा मनीषा के ने टाप सीड रोहन कपूर और कुहू गर्ग को 57 मिनट में 18-21, 21-17, 21-16 से हराकर खिताब अपने नाम किया। टूर्नामेंट के पांच फाइनल में से चार में शीर्ष वरीय खिलाड़ियों को हार का सामना करना पड़ा।

सोने का आयात अप्रैल-जनवरी में पांच प्रतिशत गिरकर 26.93 अरब डॉलर रहा



नई दिल्ली। देश में सोने का आयात चालू वित्त वर्ष के शुरुआती दस महीने (अप्रैल से जनवरी) में पांच प्रतिशत गिरकर 26.93 अरब डॉलर रह गया। इससे चालू खाते के घाटे (कैड) पर कुछ हद तक अंकुश रहने की उम्मीद है। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में देश में कीमती धातुओं का कुल आयात 28.23 अरब डॉलर रहा था।

उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि विश्व बाजारों में कीमती धातुओं के दाम में नरमी इनके आयात में कमी की वजह हो सकता है। लगातार तीन महीने -अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर, 2018 में आयात में गिरावट दर्ज करने के बाद इस साल जनवरी में आयात 38.16 प्रतिशत बढ़कर 2.31 अरब डॉलर पर पहुंच गया। 

भारत दुनियाभर में सोने का सबसे बड़ा आयातक है। आयात के जरिए मुख्यतौर पर आभूषण उद्योग की मांग को पूरा किया जाता है। चालू वित्त वर्ष के शुरुआती दस माह में रत्न एवं आभूषणों का निर्यात भी चार प्रतिशत गिरकर 32.9 अरब डॉलर रह गया। 
चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में देश का चालू खाते का घाटा, यानी कि विदेशी मुद्रा के अंतरप्रवाह और बाह्यप्रवाह के बीच का अंतर बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद का 2.9 प्रतिशत हो गया। एक साल पहले इसी अवधि में यह 1.1 प्रतिशत रहा था। इसके पीछे की वजह खासतौर से बढ़ा व्यापार घाटा रहा है। वर्ष 2017- 18 में कुल मिलाकर देश का सोना आयात 22.43 प्रतिशत बढ़कर 955.16 टन हो गया जो कि इससे पिछले वर्ष 780.14 टन रहा था। 
प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMN

 

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: