मौत का आंकड़ा 50 पार

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


सहारनपुर । गांव-गांव धधक रहीं देशी शराब की भट्टियों ने कल सहारनपुर में अपना रंग दिखाया है। देशी शराब के जहरीली होने के कारण यहां के एक दर्जन गांव में बीते 24 घंटे में 50 लोगों की मौत हो गई है। अभी भी 24 लोगों का मेरठ के साथ सहारनपुर में इलाज चल रहा है। इनमें भी एक दर्जन से अधिक की हालत गंभीर बनी है। मेरठ मेडिकल कालेज में भर्ती सहारनपुर शराब पीडि़तों में चार की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। यहां पर कुल 25 लोगों को भर्ती कराया गया था जिनमें से 13 की रात में मौत हो चुकी थी। यहां भर्ती 12 में चार की हालत नाजुक बनी हुई है। जहरीली शराब प्रकरण में अब तक कुल 41 लोगों की मौत हो चुकी है। मेरठ मेडिकल के साथ ही सहारनपुर के कई अस्पतालों में शराब पीडि़तों का इलाज चल रहा है। तेरहवीं के मृत्यु भोज में परोसी गई शराब से कल 12 गांवों के 36 लोगों की मृत्यु हो गई। इसके बाद देर रात तक इनकी संख्या बढ़ती ही गई। तड़के तक 44 लोगों की मौत हो गई थी। अभी भी एक दर्जन की हालत गंभीर बनी है। दिल दहला देने वाली इस घटना से उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश का पूरा सिस्टम हिल गया। आइजी शरद सचान और मंडलायुक्त सीपी त्रिपाठी पहले जिला अस्पताल, इसके बाद प्रभावित गांवों में पहुंचे। मृतकों में ज्यादातर लोग दलित समाज से हैं। पुलिस ने अपनी ओर से गागलहेड़ी और नागल थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।सहारनपुर में कल सुबह थाना नागल के गांव उमाही में कई घरों में कोहराम मच गया। यहां ग्रामीण रोते-बिलखते परिजनों के पास पहुंचे तो पता चला कि जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गई। इसके बाद गांव पहुंचे डीएम-एसएसपी मौका मुआयना कर ही रहे थे कि कुछ ही देर में मालूम पड़ा कि इसी क्षेत्र के गांव सलेमपुर में भी जहरीली शराब से पांच तो ताजपुरा में तीन ग्रामीणों की मौत हो गई। शवों की गिनती की जा रही थी कि थाना गागलहेड़ी क्षेत्र के गांव शरबतपुर से तीन, गांव माली से दो तथा गांव कोलकी कलां में चार ग्रामीणों के मौत की खबर और आ गई। शाम होते-होते थाना देवबंद के गांव डंकोवाला में दो, बिलासपुर, शिवपुर, आसनवाली व मायाहेड़ी से भी एक-एक ग्रामीण के मरने की सूचना पुख्ता हो गई। कुछ ही देर में खेड़ा मुगल के चार लोगों की मौत की खबर ने अधिकारियों के पैरों तले की जमीन खिसका दी।मंदिर-मस्जिद से कराया एलानजिला प्रशासन ने मंदिर-मस्जिद से अवैध शराब न पीने का एलान कराया। कहा, किसी के पास शराब है तो पुलिस के सुपुर्द कर दें या नष्ट कर दें। इन पर गिरी गाजजिला आबकारी अधिकारी अजय कुमार, थाना प्रभारी नागल हरीश राजपूत, दस पुलिसकर्मी और आबकारी के दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया। तेरहवीं में परोसी गई थी शराबएसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि हरिद्वार के थाना झबरेड़ा के गांव बालूपुर में ज्ञान ङ्क्षसह के बड़े भाई की तेरहवीं में शराब परोसी गई थी। इसी के पीने से मौत हो रही है। तहरीर आने के बाद रिपोर्ट दर्ज कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पिंटू द्वारा शराब लाना बताया जा रहा है। उसकी भी शराब पीने से मौत हो गई।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: