08 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMNसुप्रीम कोर्ट ने मायावती को दिया बड़ा झटका, कहा-जनता के पैसे से बनाई मूर्तियों की रकम करानी होगी अब जमा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बसपा सुप्रीमो मायावती को मूर्तियों व स्मारक निर्माण मामले में बड़ा झटका दिया है। शुक्रवार को मूर्तियों के निर्माण से जुडी हुई एक याचिका ​की सुनवाई करते समय सुप्रीम कोर्ट ने बताया कि उनकी राय है कि मूर्तियों पर खर्च पैसे को मायावती को सरकारी कोष में जमा करवाना चाहिए। इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगाई कर रहे थे। चीफ जस्टिस ने इस पर सख्त टिप्पणी करते हए कहा है कि प्रथम दृष्टया मूर्तियों, स्मारक और पार्कों पर खर्च हुए जनता के पैसे को मायावती को सरकारी कोष में जमा करना होगा। 

हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की अगली सुनवाई 2 अप्रैल को होगी। बता दें कि साल 2009 में ​​​रविकांत व अन्य ने स्मारकों और मूर्तियों के निर्माण के खिलाफ याचिका दायर की थी। इस याचिका को खारिज करने के लिए बसपा सुप्रीमो की तरफ से एक याचिका दायर हुई थी।

जिस पर सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगाई ने मायावती से वकील से कहा है कि अपने क्लाइंट को बता दीजिए कि उन्हें हाथियों और मूर्तियों पर खर्च जनता के पैसों को सरकारी खजाने में वापस करना चाहिए। गौरतलब है कि मायावती के यूपी में अपने शासन के समय कई पार्कों का निर्माण करवाया था। इसके साथ ही इन पार्कों पर बसपा संस्थापक कांशीराम, मायावती और हाथियों की मूर्तियां लगवाई गई थी। इस मुद्दे पर विपक्षी पार्टीयां चुनावों में उछालकर मायावती पर निशाना साधते आई है। 

दरअसल, मायावती ने अपने शासन में ये पार्क लखनऊ, नोएडा समेत अन्य शहरों में बनवाए गए थे। तो वहीं सपा सरकार में आई एक रिपोर्ट के अनुसार खनऊ, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में निर्माण किए गए इन पार्कों पर कुल 5,919 करोड रुपए खर्च किए गए थे। इसके साथ ही इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि इन पार्कों और मूर्तियों के रखरखाव के लिए 5,634 कर्मचारी बहाल किए गए थे। 

लोकसभा में सदस्यों को बोलने से रोकने के बर्ताव पर अध्यक्ष ने कहा, प्रजातंत्र का गला घोंटने जैसा कृत्य



नई दिल्ली। लोकसभा में विभिन्न मुद्दों पर बोल रहे सदस्यों के पास जाकर बाधा डालने के विपक्षी दलों के कुछ सदस्यों के प्रयासों पर नाराजगी जताते हुए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने शुक्रवार को कहा कि इस तरह का कृत्य प्रजातंत्र का गला घोंटने जैसा है और जन प्रतिनिधियों को यह समझना चाहिए।

सदन में आज कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के सदस्य राफ़ेल मामले में नारेबाजी कर रहे थे। सदन में अंतरिम बजट पर चर्चा के दौरान भी कांग्रेस के सदस्यों की नारेबाजी जारी रही। बीजू जनता दल के तथागत सत्पति जब चर्चा में भाग ले रहे थे तो कांग्रेस के गौरव गोगोई उनके पास जाकर नारेबाजी करने लगे और अखबार की कतरन दिखाने लगे। इस पर लोकसभाध्यक्ष ने नाराजगी जताई और गौरव गोगोई का नाम लेकर उनसे ऐसा नहीं करने को कहा।

सथपति का भाषण समाप्त होने के बाद सदन में बीजद के नेता भर्तृहरि महताब ने कहा कि कांग्रेस सदस्यों का किसी दूसरे दल के सदस्य के भाषण के दौरान नारेबाजी करना और आसन के समीप आना समझ में आता है लेकिन अपनी बात रखने वाले सदस्य के पास आकर कागज लहराना और उनके भाषण में अवरोध डालना पूरी तरह गलत है और इसकी निंदा होनी चाहिए। हालांकि उनके यह बोलने से पहले कांग्रेस के सदस्य राफ़ेल मामले पर विरोध जताते हुए वाकआउट कर चुके थे।

इससे पहले गोगोई से नाराजगी जताते हुए स्पीकर ने कहा कि आप अपनी सीमा में रहिए। बीजद सदस्य की चिंता पर लोकसभा अध्यक्ष महाजन ने कहा कि यह गलत हुआ और ऐसा नहीं होना चाहिए। मैंने नाम लेकर सदस्य को बोला है। उन्हें समझना चाहिए कि जनता देख रही है। यह निदनीय है। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि हम खुद प्रजातंत्र का गला घोंट रहे हैं।

संसद में ही किसी को बोलने नहीं देने का जनप्रतिनिधियों का व्यवहार निदनीय है। यह कृत्य प्रजातंत्र का घोर विरोधी होने का सबूत है। अध्यक्ष ने यह भी कहा कि राफ़ेल मामले पर दो बार चर्चा हो चुकी है। प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री अपनी बात रख चुके हैं। फिर भी आप इस मुद्दे पर जनता के प्रतिनिधियों का अधिकार छीन रहे हैं।

यह बहुत गैर-जिम्मेदाराना है। उन्होंने निराशा प्रकट करते हुए यह भी कहा कि लेकिन कर भी क्या सकते हैं। मैंने तो नाम लेकर बोला। रोज तो किसी को सदन से बाहर नहीं कर सकते। महाजन ने कहा कि यहां नहीं समझ आएगी तो कहीं और समझ मे आएगी। दूसरे लोग समझाएंगे।

राम मंदिर को लेकर अमित शाह ने दिया बड़ा बयान, जानिए क्या कहा



गोरखपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज गोरखपुर क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों और कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित किया। इस सम्मेलन में अमित शाह ने सपा—बसपा पर निशाना भी साधा। सपा—बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बुआ—भतीजा और राहुल बाबा राम जन्मभूमि पर अपना स्टैं देश की जनता के सामने रखें। इसके बाद शाह ने कहा कि भाजपा रामजन्म भूमि पर जल्द से जल्द श्रीराम मंदिर बनाने के लिए कटिबद्ध है। 

इसके बाद शाह ने गठबंधन को लेकर कहा कि गठबंधन से जरा भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। यूपी का परिणाम दीवार पर लिखा दिखता है कि आागामी लोकसभा चुनाव में 73 की 74 सीटें होगी। यूपी की जनता गठबंधन को साफ कर देगी। शाह ने बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वर्षों से देश के पिछडे, अति पिछडे और ओबीसी, अन्य पिछडा वर्ग लगातार संवैधानिक मान्यता के लिए संघर्ष करते रहे है। लेकिन कांग्रेस, सपा और बहुजन समाज पार्टी इस पर राजनीति करते रहे। हमने इन पिछडा व अति पिछडा समाज के बोर्ड को संवैधानिक मान्यता देने का काम किया है। 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सपा—बसपा की सरकारों में निजाम राज था। नसीमुद्दीन भाई थे, इमरान भाई थे, अफजल भाई ​थे, आजम खान थे और मुख्तार ​थे। बीजेपी ने इन निजामों को उखाड़ने का काम किया है। जब यहां सपा—बसपा की सरकारें थी। तो यहां निजाम चलता था। जिन्होंने मिलकर यहां आतंकवाद का कॉरिडोर बनाया था। लेकिन इसके बाद योगी सरकार आते ही हमने इनके इस कॉरिडोर को उखाड़ फेकने का काम किया।  तीन तलाक पर बोलते हुए शाह ने कहा कि हम तीन तलाक पर कानून लेकर आए। लेकिन कांग्रेस माइनॉरिटी अल्पसंख्यक अधिवेशन में महिला कांग्रेस की अध्यक्ष ने कहा कि हम आएंगे तो तीन तलाक ​बिल को हटा देंगे। लेकिन यह देश इस तरह से नहीं चलेगा। हर ​महिला को अपने सम्मान का अधिकार है। 

सऊदी अरब के वली अहद ने अपने सहयोगी से कहा था कि वह खशोगी को गोली मार देंगे



वाशिंगटन। सऊदी अरब के वली अहद मोहम्मद बिन सलमान ने एक वरिष्ठ सहयोगी से कहा था कि वे पत्रकर जमाल खशोगी को गोली मार देंगे। न्यूयॉर्क टाइम्स में अमेरिकी खुफिया विभाग के हवाले से प्रकाशित खबर में कहा गया है कि वली अहद ने इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास में खशोगी की हत्या से करीब एक साल पहले यह बात कही थी।

अखबार के अनुसार अमेरिकी खुफिया विभाग का मानना है कि सऊदी अरब के भावी उत्तराधिकारी मोहम्मद बिन सलमान पत्रकार की हत्या करना चाहते थे। भले ही वह वास्तव में उसे गोली ना मारना चाहते हों। शुरुआती दिनों में खशोगी की गुमशुदगी की जानकारी होने से इंकार करने के बाद सऊदी अरब ने माना कि उसके अधिकारियों की एक टीम ने दूतावास के भीतर पत्रकार की हत्या कर दी।

लेकिन सऊदी अरब ने इसे अपने अधिकारियों द्वारा बिना किसी अदेश के किया गया काम बताया कि  जिसमें वली अहद की कोई भूमिका नहीं थी। अखबार के अनुसार अमेरिकी खुफिया एजेंसी द्बारा सामान्य तौर पर दुनिया भर के सभी मित्र/शत्रु देशों के नेताओं के संवाद को रिकॉर्ड करके रखा जाता है। ऐसे ही रिकॉर्ड से यह सूचना सामने आई है।

हालांकि इस संवाद को खशोगी हत्या कांड में मोहम्मद बिन सलमान के खिलाफ ठोस सबूत खोजने का दबाव खुफिया विभाग पर बढ़ने के बाद हाल ही में ट्रांस्क्राइब किया गया है। खबर के अनुसार यह संवाद मोहम्मद बिन सलमान और उनके सहयोगी तुर्की अल्दाखिल के बीच सितंबर 2017 का है। गौरतलब है कि दो अक्टूबर, 2018 को खशोगी की हत्या कर दी गई थी।

दस फरवरी को एक दिन के संयुक्त अरब अमीरात दौरे पर जाएंगे इमरान खान



इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान रविवार को एक दिन की संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा पर जाएंगे। विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त अरब अमीरात के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री तथा दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम के निमंत्रण पर दुबई का दौरा करेंगे। यहां वह विश्व सरकार सम्मेलन के सातवें संस्करण में शिरकत करेंगे। विश्व सरकार सम्मेलन के दौरान राष्ट्र प्रमुख, नीति निर्माता, व्यापारिक नेता और विशेषज्ञ नवाचार और प्रौद्योगिकी के माध्यम से शासन में सुधार के वर्तमान और भविष्य के अवसरों पर चर्चा करेंगे। 

बेसिर-पैर की नहीं होती हास्य फिल्में, लोगों को हंसाने के लिए दिमाग होना जरूरी : अजय देवगन



मुंबई। ‘गोलमाल’ श्रृंखला की फिल्मों में नजर आने वाले अजय देवगन यह नहीं समझ पाते हैं कि हॉस्य फिल्मों पर ‘बेसिर-पैर’ की होने का ठप्पा क्यों लगाया दिया जाता है क्योंकि उनका मानना है कि मजेदार सामग्री बनाने के लिए दिमाग लगाना जरूरी होता है। अजय देवगन की अगली फिल्म ‘टोटल धमाल’ है।

49 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि दुनिया भर के मनोरंजन जगत में हॉस्य कलाकारों का दबदबा है। अजय ने बताया, ‘‘मैं समझ नहीं पाता हूं कि वे इसे बेसिर-पैर का क्यों कहते हैं। लोगों को हंसाना आसान नहीं है। आज हमारे देश या पूरी दुनिया में हॉस्य कलाकार सबसे बड़े सितारे हैं। ऐसे ही भारत में, हमारे पास कपिल शर्मा हैं। लोगों को हंसाने के लिए बुद्धि होना जरूरी है, आप केवल हावभाव बनाकर लोगों को हंसा नहीं सकते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘कौन हंसना नहीं चाहता? हॉस्य फिल्में भी आप बार-बार देखते हैं। मेरा मतलब यह नहीं है कि बाकी सिनेमा अच्छा नहीं है लेकिन यह भी अच्छा है। अजय, इंद्र कुमार की ‘धमाल’ श्रृंखला की फिल्म में नजर आने वाले हैं जिसमें पहले संजय दत्त मुख्य भूमिका में होते थे। अभिनेता ने कहा कि ‘अत्यधिक हास परिहास’ होने के कारण उन्होंने फिल्म में काम करने का निर्णय लिया। यह फिल्म 22 फरवरी को सिनेमा घरों में प्रदर्शित होगी।

सुशांत सिंह से ब्रेकअप के बाद पहली बार कृति सेनन ने किया यह बड़ा खुलासा, जानिए क्या कहा



एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत और अभिनेत्री कृति सेनन अपने रिश्ते और ब्रेकअप को लेकर पिछले साल काफी सुर्खियों में रहे थे। ये दोनों फिल्म ‘राबता’ से एक दूसरे के करीब आए थे। लेकिन इसके एक साल बाद दोनों का ब्रेकअप हो गया। तो वहीं ब्रेकअप के बाद अभिनेत्री कृति ने इस रिश्ते को लेकर एक बडा खुलासा किया है। कृति सेनन ने सुशांत को अपना अच्छा दोस्त बताया है। इसके साथ ही कहा कि वह सुशांत सिंह को पसंद करती है। केवल हम अच्छे दोस्त है। 

एक अंग्रेजी अखबार मिड डे की ​खबर के मुताबिक कृति ने कहा ​कि मैं उसकी शौ​कीन हूं और हम वास्तव में अच्छे दोस्त हैं और हम हमेशा ऐसे ही रहने वाले है। इसके आगे कहा कि मैंने भी बहुत बहुत कुछ पढ़ा है। ये सब डेली सौप जैसा है। सुशांत और मैं केवल दोस्त है। 

इसके साथ ही सुशांत सिंह राजपूत के साथ डेट को लेकर अभिनेत्री ने बताया कि जब आप किसी के साथ काम करने लगते है। तो इन तरह की बातें होने लगती है। गौरतलब है कि साल 2018 के अगस्त माह में सुशांत और कृति का ब्रेकअप हो गया था, हालांकि उसके बाद भी दोनों के रिश्ते अच्छे बताए जा रहे है। 

आपको बता दें ​​कि पिछले साल 21 दिसंबर को सुशांत सिंह राजपूत ने अपना जन्मदिन सेलिब्रेट किया था। इस अवसर पर कृति भी उनकी पार्टी में पहुंची ​थी। इस मौके पर कृति ने उनको विश भी किया। इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद कलाकारों के साथ उन्होंने भी जमकर मस्ती की। सुशांत सिंह अपनी आगामी फिल्म ‘सोनचिड़िया’ की तैयारी कर रहे है। तो वहीं कृति सेनन फिल्म ‘लुका—छपी’ में नजर आएगी। 

IND VS NZ: दूसरे टी20 मैच में टीम इंडिया ने सात विकेट से दर्ज की जीत, सीरीज 1-1 से बराबर

स्पोटर्स डेस्क। भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का दूसरा मैच आज ऑकलैंड में खेला गया। इस मैच को भारतीय टीम ने सात विकेट से जीत लिया है। इस जीत के साथ ही यह सीरीज 1-1 की बराबरी पर आ गई है। इससे पहले सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया को 80 रनों से हार का सामना करना पडा था। लेकिन एक बार फिर से टीम ने सीरीज में शानदार वापसी करते हुए दूसरा मैच जीत लिया। इस जीत के साथ ही भारत इस सीरीज में अभी बना हुआ है। टीम इंडिया की तरफ से इस मैच में शुभमन गिल ने टी20 में डेब्यू किया है। 

आपको बता दें कि इससे पहले कीवी टीम के कप्तान केन​ विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि इस बार मेजबान टीम की शुरूआत खराब रही। कीवी टीम ने निर्धारित ओवर में आठ विकेट पर 158 रन बनाए। मेजबान टीम की ओर से कॉलिन डी ग्रांडहोम ने 50 रन सर्वाधिक बनाए। तो वहीं रोस टेलर ने 42 रनों का योगदान दिया। तो वहीं टीम इंडिया की ओर से क्रुणाल पांड्या ने सर्वाधिक 3, खलील अहमद ने 2 तो हार्दिक पांड्या और भुवनेश्वक कुमार को 1-1 विकेट मिले।

इसके बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरूआत शानदार रही और टीम इंडिया ने यह लक्ष्य सात गेंद शेष रहते हासिल कर लिया। भारतीय टीम की तरफ से रोहित शर्मा ने 50, शिखर धवन ने 30, विजय शंकर ने 14 तो ऋषभ पंत ने नाबाद 40* और एमएस धोनी ने नाबाद 20 रन बनाए।

तो वहीं क्रुणला पांड्या को मैन आफ दा मैच का आवार्ड दिया गया है। पांड्या ने चार ओवर में 28 रन देकर तीन विकेट लिए। इसके साथ ही यह सीरीज 1—1 की बाराबरी के साथ निर्याणक मोड़ पर पहुंच चुकी है। अब तीसरा और निर्णायक मुकाबला 10 फरवरी दिन रविवार को हेमिल्टन में खेला जाएगा। 

भारत-अफ्रीका में व्यापार संभावनाओं को भुनाने को बहुआयामी रणनीति जरूरी : प्रभु

नयी दिल्ली। वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि भारत और अफ्रीका के व्यापार संभावनाओं को भुनाने के लिए बहुआयामी रणनीति की आवश्यकता है। प्रभु ने भारत-अफ्रीका रणनीतिक आर्थिक सहयोग की बैठक को संबोधित करते हुए बुधवार को कहा कि अफ्रीका और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए कोई भी रणनीति विनिर्माण और विभिन्न सेवा क्षेत्रों में एकीकरण की संभावनाओं के लिहाज से अहम होगी।वाणिज्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को बयान जारी कर मंत्री के हवाले से कहा कि 2007 में अफ्रीका और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार सात अरब डॉलर का था, जो 2017 में बढक़र 60 अरब डॉलर का हो गया। प्रभु ने अफ्रीका में विनिर्माण जैसे क्षेत्र में निवेश की जरूरत पर बल दिया क्योंकि महाद्वीप में सस्ते श्रमिक और बड़ी मात्रा में प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध हैं। 

कारोबार की समाप्ति पर औंधे मुंह गिरा शेयर बाजार, 425 ​अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ सेंसेक्स



मुंबई। सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन आज शेयर बाजार गिरावट के साथ लाल निशान पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर भी ये लाल निशान पर ही बंद हुआ। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 424.61 अंक यानि 1.15 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,546.48 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये 125.80 अंक यानि 1.14 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,943.60 के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान घरेलू शेयर बाजार सुबह अच्छी बढ़त के साथ खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये मामूली घटत-बढ़त के साथ बंद हुआ। कारोबार की समाप्ति पर जहां प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में गिरावट देखने को मिली वहीं निफ्टी हरे निशान पर बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 117.60 अंक यानि 0.32 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 37,092.83 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 4.14 अंक यानि 0.011 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,971.09 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 22.60 अंक यानि 0.20 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,085.05 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये ये 6.95 अंक यानि 0.063 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,069.40 के स्तर पर बंद हुआ।
प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMN

 

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: