दया मानव जीवन का झरना है

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दया दिल में राखिए
दया जीवन आधार
दया से जीवन बने
दया से उपजे प्यार

सृष्टि की जब से शुरूआत हुई, तभी से यह कहा जाता है कि दया धर्म का मूल है, दया कर्म का मूल है, दया इंसानियत का मूल है, दया सहयोग का मूल है और यदि सार रूप में कहा जाए तो दया जीवन का मूल है। दया से संवेदनाओं के झरने प्रस्फुटित होते हैं, दया से मानवता सम्मानित होती है, दया से इंसान गौरवान्वित होता है, दया से व्यक्ति इंसान का रूप लेता है, दया से इंसान महान बनता है और महान से वह जहान बन जाता है और यही कारण है कि जिसके पास दया है, जिसके दिल में दया है इसका सीधा सा अर्थ है कि उसके दिल में भगवान हैं और जहां भगवान रहते हैं वहां इंसान रहते हैं और किसी के काम जो आए उसे इंसान कहते हैं। दया इंसानियत का मूल है, दया के बिना कोई एक आदर्श इंसान, सरल इंसान और नेक इंसान बन ही नहीं सकता।

मानव का सम्पूर्ण जीवन दया के इर्द-गिर्द घूमता है, दया मानव के मन-मस्तिष्क में ऐसे भावों को सृजित करती है, उत्पन्न करती है जो दूसरों की पीड़ाओं को समझते हैं, दूसरों के कष्टों के भावों का महसूस करते हैं, दूसरों के दर्दांे को अपने दिल में धडक़ते हैं। यदि कोई व्यक्ति दया से परे चला जाए, दया से रहित हो जाए, दया से दूर हो जाए तो वह एक पत्थर जैसा हो जाएगा। उसमें से समस्त मानवीय भावनाएं, मानवीय संवेदनाएं बहुत दूर चली जाएंगी। उसमें न अपनों का दर्द झलकेगा, न परायों का दर्द झलकेगा, न वह किसी को बचा पाएगा, न किसी के काम आ सकेगा, न उसकी भाषा संयत होगी न भाषा मधुर होगी, विनम्रता तो उसके पास भी नहीं आ पाएगी, वह इधर-उधर लुढक़ता पत्थर होगा, उससे कोई सम्पर्क नहीं करेगा, उससे कोई संबंध नहीं रखेगा, उससे कोई व्यवहार नहीं रखेगा, उससे कोई प्रेम नहीं रखेगा।

वह घर में अकेला हो जाएगा, वह रिश्तों में अकेला पड़ जाएगा, वह समाज में अकेला पड़ जाएगा वह ऑफिस में अकेला पड़ जाएगा अर्थात् बिना दया का आदमी हर कहीं अकेला पड़ जाएगा। उसे लोग हीन भावना से देखेंगे, हेय दृष्टि से देखेंगे। आइए, हम अपने जीवन को यदि सार्थक बनाना चाहते हैं तो दया से अपने आपको पूरी तरह भर लें क्योंकि आपकी दया से किसी का जीवन बन सकता है, स्वस्थ हो सकता है और सुधर सकता है और न केवल किसी का आपके स्वयं का भी।

प्रेरणा बिन्दु:-
व्यक्ति के जीवन की दया एक ऐसी दुआ है जो उसके जीवन को सार्थक तो बनाती है सर्वहितकारी भी बनाती है।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: