अयोध्या में नन्दू गुप्ता ने कैंसर के प्रति किया आमजन को पम्पलेट बांटकर जागरूक

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


वासुदेव यादवअयोध्या। नारायण कैंसर सेवा संस्थान के तत्वावधान मे 4 फरवरी “विश्व कैंसर दिवस” के अवसर पर आज सुबह 10 बजे से रेलवे स्टेशन अयोघ्या पर कैंसर के खिलाफ जागरूकता अभियान के तहत पत्रक बाट कर यात्रीयो को जागरूक किया गया।लोगो को यह बताया गया कि कैंसर अब लाइलाज नही रहा,यदि समय रहते बीमारी का जल्दी पता लग जाने पर इलाज कराने से कैंसर पीड़ित स्वास्थ्य जीवन व्यतीत करता है।इसके अलावा पहले की अपेक्षा अब कैंसर का इलाज महंगा नही रहा।बर्तमान मे सरकार द्वारा जीवन आरोग्य निधि, मुख्यमंत्री राहत कोष,प्रधानमंत्री सहायता कोष,हेल्थ एंड फैमली वेलफेयर मंत्रालय आदि के माध्यम से कैंसर पीड़ित को आर्थिक की जाती है।इसके अलावा आजकल सैकड़ों संस्थाये भी कैंसर पीड़ित की आर्थिक सहायता हेतू तत्पर दिखती है।कैंसर एक घातक बीमारी है।यह पूरे विश्व मे फैल चुकी है।इस बिमारी के बारे मे जागरूकता फैलाने के लिए पत्येक वर्ष 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस के रूप मे मनाया जाता है।विश्व कैंसर दिवस की शुरूआत वर्ष 1933 मे केन्द्रिय अन्तरराष्ट्रीय कैंसर नियन्त्रण द्वारा स्वीजरलैन्ड मे किया गया।अब ये दिवस WHOद्वारा प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है।ताकि लोगो को कैंसर से होने वाले नुकसान से बचाया जा सके और लोगो को अधिक से अधिक जागरूक किया जा सके।आम नागरिक इस कार्यक्रम के मुख्य लक्ष्य होते है जिनके लिए ये संदेश फैलाया और बांटा जाता है जिससे कैंसर को नियन्त्रित किया जा सके।शरीर मे कोशिकाओ की अनित्रित वृध्दि ही कैंसर है।आम लोगो को लगता है कैंसर उनकी किस्मत मे था जब की 30% मामलो मे इसे पूरे जीवनभर के लिए ठीक और रोका जा सकता है।कैंसर किसी भी उमर मे हो सकता है।बिमारियों से होने वाली मौतो का सबसे बड़ा कारण कैंसर है।कैंसर का सही समय पर पता ना लगाया गया और उसका उपचार ना हो तो इससे मौत का जोखिम बढ जाता है।कैंसर का पूर्ण इलाज अभी संभव नही हो पाया है लेकिन अगर थोड़ी सावधानी से कैंसर से बचा जा सकता है।आप यदि कैंसर से बचना चाहते हो तो आपको अपनी जीवनशैली नियन्त्रित करनी होगी।इतना ही नही आपको अपने खानपान पर विशष ध्यान देना होगा।मल-मूत्र विसर्जन की आदत मे परिवर्तन, घाव जो भरता न हो,बदहजमी या निगलने मे कठिनाई, मस्से या तिल मे बदलाव,स्तन या अन्य भाग पर ठोस गांठ या सूजन,जबरदस्त कफ या खाँसी जो आवाज मे बदलाव लाती है,योनि से अस्वाभाविक खून या सफेद द्रव निकलना कैंसर के संभावित लक्षण है।लोगो को मोटापा,धूर्मपान, ज्यादा शराब,ज्यादा एक्सरे,ज्यादा देर तक धूप ,ज्यादा चिकनाईयुक्त भोजन से बचना चाहिए।इस मौके पर नन्द कुमार गुप्ता, आलोक निगम,अरविंद तिवारी,चंदन मोदनवाल,सुरेश यादव,शशाक गुप्ता “मोदी”, मनीष उपाध्याय, मदन गोपाल निगम,दिव्यम निगम,अादित्य गुप्ता आदि रहे।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: