आतंकी ने उगला राज, 26 जनवरी को थी दिल्ली में भारी तबाही की तैयारी

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


अमरोहा : जिले से गिरफ्तार चार संदिग्ध आतंकियों से पूछताछ में आतंकी संगठन हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम के खतरनाक इरादे सामने आए हैं। पूछताछ में संदिग्ध आतंकी मुफ्ती सुहैल ने कुबूल किया है कि 26 जनवरी को दिल्ली में तबाही की तैयारी की जा रही थी। राकेट लांचर और बम अमरोहा में तैयार कर दिल्ली-एनसीआर में जमा किया जाना था। इससे पहले ही 26 दिसंबर को एनआइए और एटीएस की टीम ने अमरोहा में छापेमारी करके आतंकियों के मंसूबों को धराशायी कर दिया। हत्थे चढ़े नगर कोतवाली के मुहल्ला मुल्लाना निवासी मुफ्ती सुहैल के मंसूबे काफी खतरनाक थे। वह 26 जनवरी को दिल्ली में एक साथ कई हमले करने की फिराक में था। इसके लिए वह जल्द से जल्द पुरानी दिल्ली और एनसीआर में रहने वाले अपने खास परिचितों के यहां गोला बारूद, राकेट लांचर व अन्य हथियार जमा करने में लगा था। उसके मिशन के बारे में किसी को भनक न लगे, इसके लिए ही उसने दिल्ली के जाफराबाद स्थित अपना घर छोड़कर अमरोहा को ठिकाना बनाया। पूछताछ में हाथ लगे ये तथ्ययह तथ्य रिमांड पर चल रहे सुहैल से पूछताछ में एनआइए के हाथ लगे हैं। अमरोहा में विस्फोटक और अवैध असलहे तैयार करने व उन्हें दिल्ली तक पहुंचाने में सुहैल मुहल्ला पचदरा निवासी इरशाद व सैदपुर इम्मा में रहने वाले सगे भाई सईद तथा अनीस का सहयोग ले रहा था। उसके संपर्क में जिले के कुछ अन्य युवक भी थे। जल्द ही उनसे भी पूछताछ की जा सकती है। ये मिले पुलिस अफसरों को संकेतएनआइए से जिला पुलिस के अफसरों को मिले संकेतों के मुताबिक संदिग्ध आतंकियों के पास से बरामद तमंचों के पुर्जों का प्रयोग सुहैल घातक असलहे तैयार बनाने में करने की फिराक में था। एनआइए टीम इस बात की पुष्टि करने में भी लगी है कि सुहैल के अलावा पकड़े गए उसके सहयोगियों को उसके मिशन के बारे में पूरी जानकारी थी या नहीं। हालांकि मोबाइल व इंटरनेट के जरिए उसके तार जम्मू कश्मीर में सक्रिय आतंकियों से जुड़े थे। इसी नेटवर्क पर नजर जमाए आइबी के हाथ कुछ अहम तथ्य लग गए जिनकी पड़ताल करते हुए एनआइए के हाथ सुहैल की गर्दन तक पहुंच गए। आइएस जैसा आतंकी संगठन बनाने की फिराक में था सुहैलमुफ्ती सुहैल आइएसआइएस (इस्लामिक स्टेट आफ इराक एंड सीरिया) जैसा आतंकी संगठन हिन्दुस्तान में खड़ा करना चाह रहा था। वह अपने संगठन को हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लामका नाम देकर युवकों को जोड़ रहा था। एनआइए सूत्रों के मुताबिक आइएस संगठन हिन्दुस्तान के मुस्लिमों पर ज्यादा भरोसा नहीं करता। इसलिए वह उसके जैसा खुद का आतंकी संगठन खड़ा करने की तैयारी कर रहा था। अब तक हुई पूछताछ में मुफ्ती सुहैल के आतंकी जाकिर मूसा से किसी प्रकार के संबंध होने की पुष्टि नहीं हुई है।

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: