02 जनवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMNअगस्ता मामला: लोकसभा चुनाव से पहले सोनिया, राहुल को घेरने की कोशिश

मुंबई। शिवसेना ने बुधवार को आरोप लगाया कि अगस्ता वेस्टलैंड मामले में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के दावे, आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी को घेरने का प्रयास हैं। केन्द्र और महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने आरोप लगाया कि राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ सरकारी तंत्र का दुरूपयोग किया जा रहा है। अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मामले की सुनवाई कर रही दिल्ली की एक अदालत ने पिछले सप्ताह प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में मिशेल को अपने वकील से मिलने पर रोक लगा दी थी। 

अदालत ने यह कदम तक उठाया जब एजेंसी ने कहा कि मिशेल कानूनी सुविधा का दुरूपयोग करते हुए वकीलों को चिट दे रहा है और ‘‘श्रीमती गांधी’’ से संबंधित प्रश्नों से निपटने के बारे में राय मांग रहा है। मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय कर रहा है। उसने मिशेल की हिरासत अवधि बढ़ाने की मांग करते हुए दिए गए अपने आवेदन में यह भी दावा किया था कि मिशेल ने पूछताछ के दौरान ‘‘एक इतालवी महिला के पुत्र’’ के बारे में बताया और यह भी कहा कि किस तरह वह देश का अगला प्रधानमंत्री बनने जा रहा है। शिवसेना ने अपने आरोप में कहा कि जब मिशेल का दुबई से प्रत्यर्पण हुआ था उस वक्त पांच राज्यों में चुनाव प्रचार चल रहा था और भाजपा खुद ही परेशान थी। 

पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुछ चुनावी रैलियों में इस बिचौलिए का जिक्र किया था और दावा किया था कि कुछ धमाकेदार खुलासे होंगे और वह किसी को भी नहीं बख्शेंगे। अब हमें समझ आ रहा है कि उनका इशारा किस ओर था।’’ उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी ने कहा कि मिशेल के खिलाफ जांच शुरू होने से पहले ही मोदी का गांधी परिवार की ओर संकेत करना हास्यास्पद है और इससे स्पष्ट है कि जांच की दिशा क्या है। मराठी प्रकाशन में कहा गया है ‘‘भाजपा मिशेल के प्रत्यर्पण के बावजूद हार गई। यह कहा जा सकता है कि ‘मिशन मिशेल’ का उद्देश्य ‘2019’ है।’’

संपादकीय में कहा गया है,‘‘सरकारी तंत्र दो चार लोगों के अधीन है और राजनीतिक विरोधियों को ठिकाने लगाने के लिए इसका दुरूपयोग किया जा रहा है।’’ इसमें कहा गया, ‘‘यह 2019 के चुनाव से पहले सोनिया गांधी और उनके बेटे को घेरने की कोशिश है और क्वात्रोची के बाद अब देश में मिशेल पुराण शुरू हो जाएगा।’’ सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले में आए फैसले का जिक्र करते हुए संपादकीय में कहा गया है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और अन्य को क्लीनचिट इसलिए मिल गई क्योंकि सीबीआई ने अदालत में कहा कि एजेंसी पर बड़े भाजपा नेताओं का नाम लेने के लिए दबाव था।

वंदे मातरम विवाद : भाजपा महासचिव ने पूछा, ’’कमलनाथ कुछ लोगों के दबाव में तो नहीं हैं’’



इंदौर। मध्यप्रदेश में हर महीने के पहले कामकाजी दिन भोपाल स्थित मंत्रालय में राष्ट्रीय गीत ’’वंदे मातरम’’ गाने की 13 साल पुरानी परंपरा टूटने को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस की नई सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बुधवार को निशाना साधा। 

विजयवर्गीय ने यहाँ संवाददाताओं से कहा, ’’कमलनाथ को स्पष्ट करना चाहिये कि उनकी सरकार इस अच्छी परंपरा को बदलना क्यों चाहती है। कहीं ऐसा तो नहीं है कि मुख्यमंत्री उन लोगों के दबाव में आ गये हैं, जो वंदे मातरम गाये जाने से अपनी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचने की बात करते रहे हैं।’’ 

उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों का कर्ज माफ करने के चुनावी मुद्दे पर कमलनाथ सरकार ने सूबे के अन्नदाताओं से वादाखिलाफी की है। भाजपा महासचिव ने कहा, ’’सूबे के सभी किसानों का कर्ज माफ नहीं किया जा रहा है। चुनिंदा किसानों को कर्ज माफी योजना का लाभ मिल रहा है। नतीजतन हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को वोट देने वाले किसान अब पछता रहे हैं।’’ उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि प्रदेश में कई स्थानों पर शीतलहर के प्रकोप से किसानों की फसल को बड़ा नुकसान होने के बावजूद कांग्रेस सरकार के मंत्री, सत्तारूढ़ दल के विधायक और आला अधिकारी मैदानी स्तर पर अब तक निष्क्रिय हैं।

नवाज की अल.अजीजिया स्टील फैसले की चुनौती याचिका वापस



इस्लामाबाद। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अल.अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर आपत्तियां उठाते हुए इसे वापस कर दिया। नवाज शरीफ ने जवाबदेही न्यायालय दो के जज अर्शद मलिक के 24 दिसंबर को इस मामले में दिए गए फैसले के खिलाफ मंगलवार को याचिका दायर की थी। इस मामले में नवाज शरीफ को सात वर्ष के कारावास की सजा और भारी जुर्माना किया गया है। 

इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने बुधवार को याचिका पर आपत्तियां उठाते हुए इसे वापस कर दिया। न्यायालय ने अपील को अपूर्ण बताया। रजिस्ट्रार ने अपील को वापस करते हुए निर्देश दिया कि आपत्तियों को दूर करने के बाद इसे फिर से दाखिल किया जा सकता है ।

नववर्ष कान्ये वेस्ट पर चढ़ा राजनीति का रंग, ट्रम्प को दिया अपना समर्थन



लॉस एंजिलिस। राजनीति से पिछले कुछ महीनों से दूरी बना रहे कान्ये वेस्ट ने नववर्ष का स्वागत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थन में सिलसिलेवार ट्वीट कर किया। ट्रम्प का समर्थन करने के लिए अक्सर आलोचनाओं का सामना करने वाले 41 वर्षीय रैपर ने साल की शुरुआत में ही 2019 की अपनी राजनीतिक मंशाओं को स्पष्ट कर दिया।

वेस्ट अगली बार राष्ट्रपति चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने का इरादा पहले ही साफ कर चुके हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ट्रम्प पूरे दिन…बस इसलिए कि आप जान पाएं कि 2019 में मेरा रुख क्या है..वह मुझे मुद्दा नहीं बनाएंगे…90 प्रतिशत डेमोक्रेट अश्वेत हैं…यह मुझे नियंत्रण करने जैसा लगता है…सभी को प्यार…।’’

उन्होंने लिखा, ‘‘हम विश्व बदलेंगे। भगवान मेरे साथ है। मै एक ईसाई हूं। मैं कर अदा करता हूं…।’’ वेस्ट ने कहा कि ट्रम्प एक बार फिर अमेरिका को महान बनाएंगे।  अक्टूबर में भी वेस्ट ने उनके प्रशासन के समर्थन में सिलसिलेवार ट्वीट किए थे।कार्यक्रम ‘सेटरडे नाइट लाइव’ के खत्म होने के बाद भी उन्होंने ट्रम्प के समर्थन में एक भाषण दिया था। मौके पर मौजूद कॉमेडियन क्रिस रॉक ने इंस्टाग्राम पर इसकी एक क्लिप साझा की थी।

सडक़ 2 में काम करने को लेकर डरी हुयी हैं आलिया



मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट फिल्म सडक़ 2 में काम करने को लेकर डरी हुयी हैं। आलिया अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में बनने वाली फिल्म सडक़ 2 में काम करने जा रही हैं। इस फिल्म के जरिये महेश भट्ट अरसे बाद बतौर निर्देशक वापसी कर रहे हैं। आलिया भट्ट के अलावा सडक़ 2 में संजय दत्त, पूजा भट्ट, आदित्य रॉय कपूर की भी अहम भूमिका है। यह फिल्म वर्ष 1991 में प्रदर्शित सडक़ की सीक्वल है। आलिया पिता महेश भट्ट के साथ काम करने से पहले थोड़ी डरी हुई हैं। आलिया ने कहा, ‘‘सडक़-2 में पिता के साथ जर्नी शुरू करने से पहले मैं थोड़ा डरी हुई हूं। हालांकि मैं पिता से रोजाना संपर्क में रहती हूं। मेरे पिता सोचते हैं कि मैंने अपने आगे एक दीवार खड़ी की है जिसे वे तोडऩा चाहते हैं। ’’ सडक़-2 मार्च 2020 में रिलीज होगी। 

तो दबंग स्टार की इस वजह से नहीं हुई शादी, ये बात उन्होंने खुद स्वीकारी!



मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान का कहना है कि उन्होंने संजय दत्त के कारण अभी तक शादी नहीं की है। सलमान को फिल्म इंडस्ट्री का मोस्ट इलिजबल बैचलर माना जाता है। सलमान की शादी को लेकर अक्सर चर्चा होती रही है। सलमान के फैंस लंबे समय से इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि आखिर सलमान की शादी कब होगी।

सलमान शादी के इस सवाल के जवाब को टालते आए हैं। समलान ने हाल ही में अपने शादी को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। सलमान ने अपने शादी न करने का कारण भी बताया है। सलमान द कपिल शर्मा शो के नए सीजन में शामिल हुए। जिसका एक फनी वीडियो सोशल मीडिया पर काफी बार देखा जा रहा है। इस वीडियो में सलमान ने बताया कि शादी न करने की वजह संजय दत्त हैं। वीडियो में सलमान ने कपिल से बातचीत में बताया कि संजू बाबा यानी संजय दत्त की हालत देखने के बाद उन्होंने दोबारा कभी शादी करने के बारे में नहीं सोचा।

सलमान ने कपिल शर्मा के शो पर अपने और संजय दत्त का एक वाकया भी सुनाया। सलमान खान ने बताया कि एक बार संजय दत्त उन्हें शादी करने की सलाह दे रहे थे, लेकिन उसी दौरान उनकी वाइफ का फोन आ गया और वो मुझे रोक कर वहां से निकल गए। सलमान के इतना कहते ही कपिल शर्मा और शो के जज नवजोत सिंह सिद्धू सहित वहां मौजूद सभी लोग ठहाके मारकर हंसने लग गए।

हमारा ध्यान प्रदर्शन पर, भारत के खिलाफ रिकार्ड बचाने पर नहीं: पेन



सिडनी। आस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने बुधवार को कहा कि उनकी टीम भारत के खिलाफ पहली बार घरेलू टेस्ट श्रृंखला गंवाने की संभावना से परेशान नहीं है और यहां चौथे टेस्ट में उसका ध्यान प्रतिस्पर्धी होने पर रहेगा। आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत कभी टेस्ट श्रृंखला नहीं जीत पाया है लेकिन मौजूदा श्रृंखला में मेहमान टीम 2-1 से आगे है और इतिहास रचने के लिए गुरुवार से हो रहे टेस्ट में विराट कोहली की टीम को मेजबान टीम के खिलाफ सिर्फ ड्रा की दरकार है।

पेन ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में स्वीकार किया, ‘‘मेरा ध्यान इस पर है कि हम अपने प्रदर्शन में सुधार करें और अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलें। हम जिस भी टेस्ट में खेलें उसे जीतना चाहते हैं। कभी कभी ऐसा करना संभव नहीं होता। हम फिलहाल दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम के खिलाफ खेल रहे हैं जो काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है। आस्ट्रेलिया को मेलबर्न में तीसरे टेस्ट में 137 रन से हार का सामना करना पड़ा था।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने श्रृंखला गंवाने के बारे में काफी नहीं सोचा है। अलग अलग खिलाड़ी प्रेरणा के लिए अलग अलग चीजों का इस्तेमाल करते हैं। मेरी प्रेरणा यह सुनिश्चित करना है कि हमारे प्रदर्शन में सुधार हो, हम हर समय प्रतिस्पर्धी रहें और भारत के खिलाफ अच्छी चुनौती पेश करें।

पेन ने कहा कि आस्ट्रेलिया का अनुभवहीन बल्लेबाजी क्रम मेलबर्न में नाकाम रहा लेकिन धीरे-धीरे अपनी गलतियों से सीख रहा है। आस्ट्रेलिया का कोई बल्लेबाज मौजूदा श्रृंखला में शतक नहीं जड़ पाया है और कप्तान को उम्मीद है कि अंतिम मैच में टीम इसकी भरपाई करेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘जैसा कि मैंने पहले भी कहा कि हम लगातार काम कर रहे हैं। मुझे लगता है कि हम बेहतर होने के संकेत दे रहे हैं।’’पेन ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पिछले टेस्ट में हमारे बल्लेबाजों ने बेजोड़ प्रदर्शन नहीं किया लेकिन अधिकंाश खिलाडिय़ों ने अच्छी शुरुआती की जो दर्शाता है कि वे इस स्तर पर सफल हो सकते हैं। इसलिए इस टेस्ट में हमारा ध्यान मुख्य रूप से हमारे बल्लेबाजी समूह पर होगा।

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर का गेंद से छेड़छाड़ मामले में प्रतिबंध मार्च में खत्म हो रहा है। कप्तान पेन ने सीधे इनका जिक्र नहीं किया लेकिन टीम में अनुभव की बात की। उन्होंने कहा, ‘‘हमें पता है कि बिना शतक जड़े हम अधिक मैच नहीं जीतने वाले और हमने इस बारे में बात भी की है। हम इसमें सुधार को लेकर उत्सुक हैं। 

पेन ने कहा, ‘‘अच्छी बात यह है कि कुछ मैचों के बाद कुछ विश्व स्तरीय बल्लेबाज उपलब्ध होंगे और हमारे पास कुछ युवा खिलाड़ी भी होंगे जो आठ से 10 टेस्ट खेल चुके होंगे। यह आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए शानदार चीज होगी। पेन ने इस सुझाव को भी खारिज किया कि वह अंतिम टेस्ट में बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आ सकते हैं।

आस्ट्रेलियाई कप्तान ने हैरानी जताई कि भारतीय आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन चोट के कारण शायद अंतिम टेस्ट में नहीं खेल पाएं। आस्ट्रेलिया पिच को देखने के बाद लेग स्पिन आलराउंडर मार्नस लाबुशेन को पदार्पण का मौका दे सकता है। पेन ने कहा मुझे लगता है कि हमारे कुछ बल्लेबाज इस खबर (अश्विन के संभवत: नहीं खेलने की खबर) को सुनकर खुश होंगे। लेकिन हमें पता है कि उनके पास कुछ और स्पिनर हैं- कुलदीप यादव युवा है लेकिन प्रतिभावान है और रविंद्र जडेजा ने मेलबर्न में उनके लिए अच्छा किया। उन्होंने कहा, ‘‘हम आज एक बार फिर विकेट को देखेंगे और संभवत: दोपहर तक फैसला करेंगे। यह टीम संतुलन पर निर्भर करेगा कि कौन खेलेगा। 

सिडनी में जीत बड़ी उपलब्धि होगी क्योंकि यहीं से हुई थी बदलाव की शुरुआत: कोहली



सिडनी। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर आस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतना काफी बड़ी उपलब्धि होगी क्योंकि इसी मैदान से उनकी कप्तानी में टीम में बदलाव के दौर की शुरुआत हुई थी। महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद कोहली ने चार साल पहले इसी मैदान भारतीय टेस्ट कप्तान के रूप में जिम्मेदारी संभाली थी।

भारत तब दुनिया की सातवें नंबर की टीम था और अब इस प्रारूप में दुनिया की नंबर एक टीम हैं। टीम इंडिया चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 की अजेय बढ़त के साथ बोर्डर-गावस्कर ट्राफी को अपने पास बरकरार रखना तय कर चुकी है। कोहली ने गुरुवार से शुरू होने चौथे और अंतिम टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘सिर्फ चार साल हुए हैं (मुझे कप्तानी संभाले)। अगर ऐसा होता है तो यह शानदार होगा क्योंकि मैं तीसरी बार यहां टेस्ट दौरे पर आया हूं और मुझे पता है कि यहां जीतना कितना मुश्किल है।’’भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘आप आस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन टीम के रूप में जीत दर्ज करना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती रही है। ईमानदारी से कहूं तो पिछले दो दौरों के व्यक्तिगत प्रदर्शन किसी को याद भी नहीं हैं।

कोहली ने कहा कि अंतिम टेस्ट जीतना प्रदर्शन में निरंतरता हासिल करने की तरफ एक और कदम बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा, ‘‘आपका नाम भले ही सम्मान के साथ बोर्ड पर लिखा हो लेकिन अगर आपकी टीम जीत दर्ज नहीं करती तो यह मायने नहीं रखता। अब तक यह बड़ी चीज है, बड़ी सीरीज जीत, सिर्फ मेरे लिए ही नहीं लेकिन पूरी टीम के लिए भी क्योंकि इसी स्थान पर हमने बदलाव के दौर की शुरुआत की थी।

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘इसी स्थल पर जब महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ी (2014 में) थी और हमारी टीम काफी युवा थी, दुनिया की छठे या सातवें (टेस्ट रैंकिंग ) नंबर की टीम। हम यहां दुनिया की नंबर एक टीम के रूप में वापस आए हैं और हम इस विरासत को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

कोहली ने कहा कि उनकी टीम के लिए जीतना ‘जुनून’ बन गया है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप देखो तो पिछले मैच में अंतिम विकेट गिरने के बाद सभी की भावनाएं सामने आ गई, यहां तक कि सबसे कम बोलने वाले खिलाडिय़ों की भी क्योंकि हमें पता है कि एक टीम के रूप में अगर आप एक दिशा में जोर लगाते हो तो चीजें सही होती हैं। और यह जुनून होना चाहिए। कोहली ने कहा, ‘‘अगर यह जुनून है तो एक-दो मैचों में नहीं रुकेगा। अगर यह लक्ष्य है तो यह एक या दो मैचों में रुक जाएगा।

रिजर्व बैंक ने छोटे उद्योगों के रिण पुनर्गठन की एकबारगी छूट दी



नयी दिल्ली। रिजर्व बैंक ने बैंकों को सूक्ष्म, लघु एवं मझोले (एमएसएमई) उद्यमों के फंसे कर्ज के एकबारगी पुनर्गठन की छूट देते हुये मंगलवार को इसके लिए नियम जारी किए। केन्द्रीय बैंक के एक वक्तव्य में कहा गया है कि रिजर्व बैंक ने एमएसएमई के फंसे कर्ज की एकबारगी पुनर्गठन किये जाने की अनुमति दे दी है। 

वक्तव्य के अनुसार एमएसएमई के ऐसे कर्ज जिनकी किस्तों की अदायगी रुक गयी है, लेकिन वे एक जनवरी 2019 को ‘‘मानक’’ रिण श्रेणी में हैं, उनका एकबारगी पुनर्गठन किया जायेगा। वक्तव्य में कहा गया है कि किसी कर्जदार इकाई के लिए इस छूट का पात्र होने के लिये जरूरी है कि उस पर एक जनवरी 2019 को बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की गैर-कोष आधारित सुविधा सहित कुल उधार 25 करोड़ रुपये से अधिक नहीं हो। इस योजना के तहत रिणों का पुनर्गठन 31 मार्च 2020 तक लागू किया जा सकता है।

363 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ सेंसेक्स



मुंबई। जब आज सुबह शेयर बाजार खुला तो उसमें गिरावट देखी गई, सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही गिरावट के साथ लाल निशान पर कारोबार की शुरुआत की और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त बनाने में नाकामयाब रहा। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 363.05 अंक यानि 1.00 प्रतिशत की गिरावट के साथ 35,891.52 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये 117.60 अंक यानि 1.08 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,792.50 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरलतब है कि कल के कारोबार के दौरान सुबह शेयर बाजार गिरावट के साथ खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 85.77 अंक यानी 0.24 प्रतिशत गिरकर 35,982.56 अंक पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 186.24 अंक यानि 0.52 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,254.57 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 19.75 अंक यानी 0.18 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,842.80 अंक पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 47.55 अंक यानि 0.44 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,910.10 के स्तर पर बंद हुआ।  
प्रेस24 न्यूज़ – Press24 News, KNMN

 

Source link

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

You might also like More from author

Comments

Loading...
%d bloggers like this: