PM Modi Interview: 75 दिन पूरे होने पर PM मोदी ने कहा, कश्मीर से बड़ा कोई निर्णय नहीं हो सकता

2




हमारी सरकार के प्रथम 75 दिनों में ही ढेर सारी चीजें हुई जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी और दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के बाद पहली बार इंटरव्यू देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, हमारी सरकार के प्रथम 75 दिनों में ही ढेर सारी चीजें हुई हैं। बच्चों की सुरक्षा से लेकर चंद्रयान-2, भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से लेकर मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक जैसी बुराई से मुक्ति दिलाना, कश्मीर से लेकर किसान तक हमने वह सबकुछ कर के दिखाया है, जो एक स्पष्ट बहुमत वाली दृढ़संकल्पित सरकार हासिल कर सकती है। ‘देश बेहतरी का एक ऐतिहासिक मोड़ है’ मोदी ने कहा- 1952 के बाद से हमारी इस बार की सरकार में संसद का पहला सेशन सबसे ज्यादा प्रोडक्टिव रहा है। उन्होंने कहा कि, मेरी नजर में यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है, बल्कि बेहतरी का एक ऐतिहासिक मोड़ है, जिसने संसद को जनता की जरूरतों के प्रति ज्यादा जवाबदेह बनाया है। कई ऐतिहासिक पहलें शुरू की गई, जिसमें किसानों और व्यापारियों के लिए पेंशन योजना, मेडिकल सेक्टर का रिफॉर्म, दिवाला और दिवालियापन संहिता में महत्वपूर्ण संशोधन, श्रम सुधार की शुरुआत..मैं लगातार आगे बढ़ता रहा। कोई समय की बर्बादी नहीं, कोई लंबा सोच-विचार नहीं, बल्कि कार्यान्वयन और साहसी निर्णय लेना, कश्मीर से बड़ा कोई निर्णय नहीं हो सकता। ‘मजबूत जनादेश से फैसले लेने में आसानी’ मोदी ने कहा- हमने मौजूदा समय की सबसे बड़ी समस्या को सुलझाने के लिए उठाए गए कदम से शुरुआत की। हमने जलशक्ति मिनिस्ट्री का गठन किया ताकि पानी की सप्लाई और जल संचय को बढ़ाने के लिए मिशन मोड पर काम किया जा सके। पिछली बार से ज्यादा जनादेश मिलने के बाद तेजी से सुधार के कदम उठाने के पीछे क्या लोगों को यह बताना है कि आने वाले 5 सालों में क्या होगा? इस पर मोदी ने कहा- एक तरह से कहा जा सकता है कि यह सरकार के दोबारा और ज्यादा जनादेश के साथ वापस आने का नतीजा है। हमने इन 75 दिनों में जो हासिल किया है, वह उस मजबूत बुनिया का परिणाम भी है, जिसे हमने पिछले पांच साल के कार्यकाल में बनाए थे।



Source link

ये भी पढ़े
1 की 699

قالب وردپرس

टिप्पणियाँ

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More