बहराइच में अशोक स्तंभ पर भू माफियाओं की कुदृष्टि

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बहराइच। जिस चिन्ह को राष्ट्रपति ,राज्यपाल, ,मुख्य न्यायधीश सहित भारतीय मुद्रा में मुख्य स्थान दिया गया हो आज वह अपने अस्तित्व की लड़ाई भू माफियाओं से लड़ रहा है ।बात कर रहे हैं दशको पूर्व निर्मित अशोक स्तंभ की जिसे कुछ भू माफियाओं ने तोड़ दिया। इसकी जानकारी वरिष्ठ कांग्रेसियों को तब हुई जब काँग्रेस भवन के दुकानदारों ने दी । अशोक स्तंभों का अस्तित्व’ अब धीरे धीरे भू माफियाओं के रडार पर है । फिर भी जिला प्रशासन इस ओर कोई ठोस पहल उठाने को तैयार नहीं दिख रहा। जिसका खामियाजा अशोक स्तंभ को उठाना पड़ रहा है। उललेखनीय है कि अशोक स्तंभ हमारी ऐतिहासिक पहचान है।

इसे कुछ लोग हटाकर धन कमाने हेतु अवैध कब्जा करने में लगे हुए हैं। नगर क्षेत्र के कांग्रेस भवन स्थित मुख्य द्वार पर स्थापित अशोक स्तंभ का है जिसमें एक स्तंभ तो पहले ही गंदी राजनीति की चिता व भाषणों के सौदागरों की गिरफ्त में आकर विलीन हो गया अब दूसरे स्तंभ की बारी आ गयी। कु़छ लोगो द्वारा विगत वर्षों से धीरे-धीरे इसकी पहचान खत्म करने में लगे हुए थे। यह ऐतिहासिक धरोहर अशोक स्तम्भ के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी जब संकल्प फाउण्डेशन को हुई तो अशोक स्तम्भ का जीर्णोद्धार करने का दायित्व अपने ऊपर लिया और इस हेतु एक शिलापट भी अशोक स्तम्भ के नीचे लगायी जिससे अवशेष बचे अशोक स्तम्भ की सुरक्षा की जा सके व निकट भविष्य में उसका सौन्दर्यीकरण करके उसे उचित सम्मान दिलाया जा सके। यह बात बहुत लोगों को अखरती रही जिसको लेकर बहुत दिनों तक कांग्रेस भवन में राजनीति चलती रही जिसके बावजूद बीती रात अशोक स्तंभ इन राजनीत कारों की भेंट चढ़ गया पहले इस अशोकस्तंभ में लगे शिलापट्ट को हटाया गया फिर आज अशोक स्तंभ को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। हिंदुस्तान का शायद ही कोई ऐसा कोना हो जहाँ लोग मुल्क की कुछ खास धरोहरों सहित अशोक स्तम्भ के बारे में न जानते हों, बाउजूद देश की राजनीति में भाषण बाजीे ज्यादा व काम कम करने से जिले की तमाम ऐतिहासिक धरोहरों के साथ साथ हिन्दुस्तान की पहचान में शामिल अशोक स्तम्भ भी आपसी द्वेष व राजनीतिक उपेच्छा का शिकार होकर रहा गया। इस सम्बन्ध में जब रवि कुमार श्रीवास्तव महासचिव जिला कांग्रेस कमेटी से पूछा गया कि अशोक स्तम्भ कब और किसने निर्माण करवाया था तो उन्होने कहा कांग्रेस भवन निर्माण के समय ही दोनो अशोक स्तम्भ कांग्रेस भवन निर्माण के समय में दोनो स्तम्भ बनवाया गया था और यह अशोक स्तम्भ ऐतिहासिक चिन्ह ही हमारी धरोहर है इसलिए गेट के दोनो ओर उसका निर्माण करवाया गया था। जिनमेें से एक स्तम्भ विगत कुछ वर्षो पूर्व कुछ लोगों की कुदृष्टि का भेट चढा चुका था।

(ये खबर सिंडिकेट फीड से सीधे ऑटो-पब्लिश की गई है.प्रेस24 न्यूज़ ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.आधिक जानकारी के लिए सोर्से लिंक पर जाए।)

सोर्से लिंक

Loading…

قالب وردپرس

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

टिप्पणियाँ

Loading...