ट्रंप ने ‘जानवर’ वाली टिप्पणी का बचाव किया, कहा-हिंसक गिरोह के सदस्यों को यही बोलेंगे

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Loading…

FASTEST HINDI NEWS – PRESS 24 News

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी उस टिप्पणी का बचाव किया है जिसमें उन्होंने कुछ अवैध प्रवासियों के लिए ‘जानवर’ शब्द का कथित इस्तेमाल किया था। उन्होंने जोर देकर कहा कि वह कई देशों में सक्रिय एक आपराधिक गिरोह एमएस-13 के सदस्यों के लिए इस शब्द का इस्तेमाल करना जारी रखेंगे।

हालांकि उनकी इस टिप्पणी की डेमोक्रेटिक नेताओं ने भी आलोचना की थी। ट्रंप ने कहा कि कल उन्होंने इस शब्द का इस्तेमाल एमएस -13 गिरोह के सदस्यों के लिए किया था। यह अमेरिका में 1980 के दशक में शुरू हुआ एक अंतरराष्ट्रीय अपराधिक गिरोह है जो बाद में कनाडा , मैक्सिको और मध्य अमेरिका तक फैल गया। इस समूह के ज्यादातर सदस्य मध्य अमेरिका से हैं।

व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत में ट्रंप ने कहा कि जब एमएस -13 और दूसरे गिरोहों के सदस्य हमारे देश में आते हैं तो मैं उन्हें जानवर कहता हूं। मैं हमेशा उनके लिए इसी शब्द का इस्तेमाल करूंगा। उन्होंने कहा कि हम हजारों की संख्या में उन्हें बाहर कर रहे हैं। लेकिन यह संख्या बहुत अधिक है और यह खतरनाक काम है। कुछ मामलों में वह वापस आने में सक्षम हैं या गिरोहों से नए समूह भी आ सकते हैं।

उ. कोरिया के साथ शिखर वार्ता ना होने पर अगला कदम उठाएंगे : ट्रंप

ट्रंप ने यह विवादित टिप्पणी कल कैलिफोर्निया के कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान की थी। उन्होंने व्हाइट हाउस में कैलिफोर्निया सेंचुरी स्टेट राउंडटेबल के दौरान कहा था , ‘‘ लोग हमारे देश में आ रहे हैं , आने की कोशिश कर रहे हैं और हम उनमें से कई को यहां आने से रोक रहे हैं , कई को देश से बाहर ले जा रहे हैं। आप विश्वास नहीं करेंगे कि ये लोग कितने बुरे हैं। ये जानवर के समान हैं। सांसदों ने ट्रंप की इस टिप्पणी की आलोचना की।

सीनेट के माइनोरिटी लीडर चंक शुमेर ने ट्वीट किया , जब हमारे पूर्वज अमेरिका आए थे तब वह ‘ जानवर ’ नहीं थे और न ही ये लोग जानवर हैं। हाउस माइनोरिटी लीडर नेन्सी पेलोसी ने कहा कि हर दिन आप सोचते हैं कि अब बस हो चुका , तभी आपके सामने एक और उदाहरण आ जाता है जिसे देखकर आप सोचते हैं कि उनकी नीतियां इतनी अमानवीय क्यों हैं।

मैक्सिको के विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी विदेश विभाग को औपचारिक पत्र भेज शिकायत की है कि ट्रंप की टिप्पणियां पूरी तरह से अस्वीकार्य हैं। ट्रंप ने देश में अवैध आव्रजकों का सैलाब आने की वजह अमेरिका के बेतुके नियमों को बताया। व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को ट्रंप की टिप्पणियों का बचाव किया।

सीआईए की पहली महिला निदेशक बनीं जिना हास्पेल

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सेंडर्स ने कहा कि राष्ट्रपति स्पष्ट तौर पर एमएस -13 गिरोह के सदस्यों के बारे में बोल रहे थे जो देश में अवैध रूप से आते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि राष्ट्रपति ने जिस शब्द का इस्तेमाल किया, वह बहुत सख्त था क्योंकि इस गिरोह ने जघन्य अपराधों को अंजाम दिया है। 

FASTEST HINDI NEWS – PRESS 24 News

 

(ये खबर सिंडिकेट फीड से सीधे ऑटो-पब्लिश की गई है.प्रेस24 न्यूज़ ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.आधिक जानकारी के लिए सोर्से लिंक पर जाए।)

सोर्से लिंक

قالب وردپرس

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

टिप्पणियाँ

Loading...