घर में विंडो लगवाते समय ध्यान में रखें ये वास्तु टिप्स

0


इंटरनेट डेस्क। वास्तु के अनुसार घर में खिड़कियां होना आवश्यक है। वैसे तो घर में खिड़कियां समुचित प्रकाश और हवा आती रहे इसके लिए रखी जाती हैं, लेकिन वास्तु के अनुसार खिड़कियों की स्थिति का भी हमारे जीवन के सभी पक्षों पर गहरा प्रभाव पड़ता है। वास्तुशास्त्र में खिड़कियों से जुड़े कुछ वास्तु टिप्स दिए गए हैं जिन्हें ध्यान में रखना आवश्यक होता है। चलिए आपको बताते हैं खिड़कियों से जुड़े वास्तु टिप्स…..

जानिये ऐसे अद्भुत मंदिर के बारे में जहाँ रहते है भगवान 15 दिनों के लिए बीमार

गलत दिशा में खिड़की हो तो वहां रहने वाले व्यक्तियों को अशुभ प्रभाव झेलने पड़ सकते हैं। इनसे नकारात्मक ऊर्जा बाहर निकलती है तथा सकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश करती है। 

खिड़कियां खोलते व बंद करते समय आवाज नहीं होना चाहिए। इसका प्रभाव घर की सुख-शांति पर पड़ता है। इससे कारण परिवार के सदस्यों का ध्यान भंग होता है। 

खिड़कियों की संख्या सम हो किंतु दस के गुणक में जैसे- 10, 20, 30 या 40 न हो।

जानिये! भगवान शिव की लिंग के रूप में पूजा क्यों की जाती है…

किसी कमरे की किसी एक दीवार में जहां तक हो सके एक से अधिक खिड़कियां न रखें। कमरे की साइज के अनुपात में खिड़की बड़ी ही बनवाएं।  

अधिक ऑक्सीजन एवं ताजा हवा के लिए अपेक्षित है कि प्रत्येक लिविंग रूम में कम से कम दो खिड़कियां व दो रोशनदान अवश्य हों।

खिड़कियां ऊंचे स्थानों पर हों ताकि शुद्ध हवा आसानी से घर में प्रवेश कर सके और अशुद्ध हवा दूसरी खिड़की से बाहर निकल सके।

(Source-Google)

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

READ MORE :-

जो व्यक्ति 16 वर्षों तक करता है ये व्रत, वह किसी भी जन्म में नहीं बनता निर्धन

इस राक्षस की वजह से यहां पर मिलता है पितरों को मोक्ष!

शाम ढलने के बाद इस मंदिर में रुकना है सख्त मना

 









प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

قالب وردپرس

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें