महिलाओं के प्रति हिंसा रोकने के लिए जागृति और जागरूकता जरूरी: मोदी

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Loading…

Press24 News – Latest Hindi News

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को महिलाओं के प्रति हिंसा जैसी सामाजिक समस्या के संदर्भ में बच्चों को शुरूआती वर्षो में परिवार और स्कूल में  मिलने वाले संस्कार पर ध्यान की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने बलात्कार जैसे जघन्य अपराध के लिए कानून को सख्त बनाया है और ऐसे अपराध के लिए अब फांसी की सजा भी हो सकती है।

बेंगलुरू को ‘गार्बेज सिटी‘ कहकर प्रधानमंत्री ने किया शहर का अपमान : राहुल

प्रधानमंत्री ने कर्नाटक बीजेपी महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं से नरेन्द्र मोदी एप के जरिए संवाद करते हुए कहा कि महिलाओं के प्रति हिंसा जैसी समस्या का समाधान हर व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी का अहसास और जागृति में निहित है। यह परिवार और स्कूल में बच्चों को शुरूआती वर्षों में मिलने वाले संस्कार पर भी निर्भर करता है।

मोदी ने कहा कि उन्होंने 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से कहा था कि हम बेटियों से पूछते हैं कि किससे बात की, देर से क्यों आई, क्या कर रही थी लेकिन क्या हम बेटों से पूछते हैं कि देर से क्यों आए, देर तक बाहर क्या कर रहे थे, किसके साथ थे? उन्होंने कहा कि जब बेटों को इस जिम्मेदारी का आभास होगा तभी जागृति आएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को कानून का डर नहीं होता है और इसके लिए केंद्र सरकार ने कड़ा कानून पेश किया है। अगर मासूम के साथ कोई बलात्कार जैसी जघन्य हरकत करता है तो उसे फांसी तक की स$जा हो सकती है। सरकार ने आईपीसी, सीआरपीसी और पोक्सो कानून को सख्त किया है।

उन्होंने कहा कि बलात्कार जैसे अपराध के लिए न्यूनमत सजा को बढाया है। दोषी को जल्द सजा मिले, इसकी व्यवस्था की गई है। इसके लिए त्वरित निपटान अदालतों के गठन की पहल की गई है। पुलिस प्रशासन की कार्यशैली और न्याय प्रक्रिया में गति पर जोर दिया जा रहा है। महिला कार्यकर्ताओं से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने एक वीडियो दिखाया और कहा कि जब आप लोगों के बीच जाएं तो उन्हें यह वीडियो दिखाएं।

ये वीडियो कन्नड़ भाषा में ही है। इस दौरान प्रधानमंत्री से एक महिला कार्यकर्ता ने सवाल पूछा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध से हमें काफी दुख होता है। इस बारे में क्या कर सकते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि समाज में हर व्यक्ति को इस बात का अहसास होना चाहिए कि वह क्या कर सकता है, तभी इसका हल निकलेगा।

कांग्रेस खीजकर लोकतांत्रिक व्यवस्था को खतरे में डाल रही हैः तोमर

हर व्यक्ति में जिम्मेदारी की भावना होनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें सिर्फ अपनी बेटियों से ही नहीं बल्कि बेटों से भी सवाल पूछना शुरू करना चाहिए। महिला मोर्चा की एक अन्य कार्यकर्ता के सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के पास सिर्फ झूठ फैलाने का काम कर रही है, उनके पास और कोई काम नहीं है।

मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने मुद्रा योजना के तहत 9 करोड़ महिलाओं को फायदा पहुंचाया है। सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान शुरू किया, जिसके परिणाम स्वरूप लिंग अनुपात बेहतर हुआ है। उन्होंने कहा कि बैंक सुविधा से वंचित लोगों के लिए जनधन योजना शुरू हुई।

करीब 16.5 करोड़ महिलाओं को इसका लाभ मिला है। स्टैंडअप इंडिया के अंतर्गत 8000 करोड़ से अधिक का लोन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप में काफी बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि मुद्रा योजना में 9 करोड़ महिलाओं को मुद्रा लोन का लाभ मिला है। 

Press24 News – Latest Hindi News

 

(ये खबर सिंडिकेट फीड से सीधे ऑटो-पब्लिश की गई है.प्रेस24 न्यूज़ ने इस खबर में कोई बदलाव नहीं किया है.आधिक जानकारी के लिए सोर्से लिंक पर जाए।)

सोर्से लिंक

قالب وردپرس

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

टिप्पणियाँ

Loading...