कहीं आपके बच्चे के क्लासरूम में भी तो नहीं है वास्तुदोष, ऐसे जानें

0


इंटरनेट डेस्क। बच्चों के स्कूल में क्लास रूम वो जगह होती है जहां वे विद्या अध्ययन कर एक सफल इंसान बनने की तैयारी करते हैं। क्लास रूम यदि वास्तु के अनुसार बना हो तो छात्रों को सफलता अर्जित करने में आसानी हो जाती है। यहां हम आपको ऐसे कुछ वास्तु टिप्स बता रहे हैं जिन्हें क्लास रूम में आजमाकर आप अपने बच्चों के सफल भविष्य की नीव रख सकते है। 

जानिये ऐसे अद्भुत मंदिर के बारे में जहाँ रहते है भगवान 15 दिनों के लिए बीमार

कुछ इस तरह हो क्लास रूम का वास्तु :-

यदि आप स्कूल या कॉलेज की किसी कक्षा में प्रोजेक्टर लगाकर पढ़ाने का काम करते हैं तो इसे हमेशा पूर्व दिशा की ओर लगाना चाहिए।  

क्लास रूम के मध्य भाग में नकारात्मक वस्तुएं जैसे कचरा, फटे कागज नहीं रखने चाहिए।

कक्षा में कम्प्यूटर सिस्टम इस तरह से लगाना चाहिए जिससे कम्प्यूटर की स्क्रीन को देखते हुए या सीखते हुए छात्र का मुख पूर्व या उत्तर दिशा की ओर हो। 

क्लास रूम में लगी हुई कम्प्यूटर टेबल हमेशा आयताकार होनी चाहिए।  

जानिये! भगवान शिव की लिंग के रूप में पूजा क्यों की जाती है…

सेंटर में या कक्षा में किसी भी प्रकार के बंद उपकरण या मशीनें आदि नहीं होनी चाहिए। काउंसलिंग के लिए आए छात्रों की कुर्सी हमेशा उत्तर-पूर्व दिशा में रखनी चाहिए।  

वास्तु के अनुसार स्कूल या कॉलेज में दीवारों और पर्दों का रंग हमेशा नीला या हल्का नीला होना चाहिए।

(Source-Google)

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

READ MORE :-

जो व्यक्ति 16 वर्षों तक करता है ये व्रत, वह किसी भी जन्म में नहीं बनता निर्धन

इस राक्षस की वजह से यहां पर मिलता है पितरों को मोक्ष!

शाम ढलने के बाद इस मंदिर में रुकना है सख्त मना

 









प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

قالب وردپرس

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें