DDA ने 2017 की स्कीम के लिए ड्रॉ निकाला, पहला फ्लैट दिव्यांग को मिला

0


नई दिल्ली: दिल्ली विकास प्राधिकरण की नई आवासीय योजना के तहत 12,617 फ्लैटों का गुरुवार को कंप्यूटरकृत ड्रॉ निकाला गया और पहला घर एक दिव्यांग आवेदक को आवंटित किया गया. आवेदन करने के लिए आय की चार श्रेणियां रखी गई थी और सभी श्रेणियों में 46,000 से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया था. ये फ्लैट रोहिणी, द्वारका, नरेला, वसंत कुंज, जसौला, पीतमपुरा, पश्चिम विहार और सिरसपुर में स्थित हैं.

डीडीए के एक अधिकारी ने बताया कि पहला फ्लैट एचआईजी श्रेणी में नागेश्वर राव को द्वारका सेक्टर 18बी में आवंटित हुआ. वह आवेदकों की दिव्यांग श्रेणी से संबंधित हैं. दूसरा फ्लैट भी एचआईजी श्रेणी का था जो अनुसूचित जाति के प्रदीप कुमार को मिला. उन्हें फ्लैट रोहिणी के सेक्टर 29 में मिला. डीडीए के मुख्यालय विकास सदन के ऑक्शन हॉल में दोपहर करीब साढ़े 12 बजे 46,080 आवेदकों के लिए ड्रॉ निकालना शुरू हुआ. कामयाब आवेदकों की सूची अब डीडीए की वेबसाइट पर उपलब्ध है.

उन्होंने कहा कि प्रक्रिया को तीन स्वतंत्र पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में सुचारू रूप से आयोजित किया गया. समूची प्रक्रिया का वेब पर सीधा प्रसारण भी किया गया. एचआईजी श्रेणी में 85, एमआईजी श्रेणी में 403, एलआईजी श्रेणी में 11,757 और जनता श्रेणी में 372 फ्लैट हैं. ड्रॉ की निगरानी उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अगुवाई तीन सदस्य दल ने की. इस दल में आईआईटी दिल्ली और राष्ट्रीय इंफॉर्मेटिक्स सेंटर से एक-एक आईटी पेशेवर शामिल थे.

डीडीए ने कहा कि सामान्य श्रेणी के तहत पहला फ्लैट हासिल करने वालों में नेहा मेहता रही जिन्हें द्वारका में एलआईजी श्रेणी में फ्लैट मिला. डीडीए के प्रधान आयुक्त (आवास) जेपी अग्रवाल ने कहा कि आवासीय योजना को प्रधानमंत्री आवास योजना से जोड़ा गया है. इसलिए फ्लैट हासिल करने वालों को डेढ़ लाख रुपये से लेकर ढाई लाख रुपये तक की सब्सिडी मिलेगी.

(इनपुट – भाषा)



प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें