गुलजार ने विभाजन पर अंग्रेजी में अपना पहला उपन्यास लिखा

0


नई दिल्ली। मशहूर गीतकार गुलजार अब अंग्रेजी भाषा में अपना पहला उपन्यास लेकर आ रहे हैं और उनका यह उपन्यास विभाजन के बाद शरणार्थियों के हालात पर आधारित है। टू नाम के इस उपन्यास को मूल रूप से उर्दू में लिखा गया है जो गुलजार साहब के लेखन का माध्यम है।

 

पद्मावती विवाद पर बोली ईशा गुप्ता, फिल्मों की जगह वास्तविक मुद्दों पर केंद्रित करें ध्यान

उन्होंने कहा, उस समय इसमें पंजाब के इलाके में बोले जाने वाली पंजाबी, सराइकी और अन्य बोलियों में कई शब्द और वाक्यांश शामिल थे। विभाजन के बाद पंजाब पाकिस्तान बन गया। गुलजार का जन्म झेलम शहर के दीना में हुआ था।

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित गुलजार ने कहा कि इस उपन्यास का अंग्रेजी में अनुवाद करना थोड़ा मुश्किल था। उनके दो दोस्तों सुक्रिता पॉल और शांतनु रे चौधरी ने इसका अनुवाद करने की कोशिश की थी लेकिन गुलजार उससे खुश नहीं थे। इसके बाद उन्होंने खुद इसका अनुवाद करने का फैसला किया।

दिया मिर्जा भारत के लिए संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण सद्भावना दूत बनी

उन्होंने कहा, आपको शायद इसमें उत्तम या उचित अंग्रेजी ना मिले लेकिन आपको शरणार्थियों की कहानियां मिलेगी। सुक्रिता द्वारा अनुदित कई पंक्तियां इसमें हैं। ऐसे ही शांतनु की भी कई अनुदित पंक्तियां हैं। – एजेंसी

मलयाली फिल्मों के अभिनेता अबी का निधन

काजोल का कहना, फिल्मों में किसी भी तरह की भूमिका के लिए अभिनेताओं के लिए अच्छा वक्त

अक्षय की जिंदगी का हसींन लम्हा बन गया था जब ऑटोग्राफ के साथ अमिताभ ने दिए थे अंगूर…

 









प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

قالب وردپرس

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें