ये ऐप्स चोरी छुपे फोन के सोशल मीडिया फोटोज को कर सकती हैं एक्सेस और भेज सकती है मैसेज

0

हम से से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर बहुत सी जानकारी और पर्सनल इनफार्मेशन आदि शेयर कर देते हैं। भले ही हमने कोई नया हेयरकट लिया हो या फिर वैकेशन पर जा रहें हो हम उन से जुडी डिटेल्स आदि सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आपके द्वारा सोशल मीडिया पर शेयर की कई जानकारी सिक्योर है या नहीं?

जाहिरा तौर पर सोशल मीडिया पर शेयर की गई इनफार्मेशन को आसानी से चुराया जा सकता है। भले ही आपने उन पर प्राइवेसी भी क्यों ना लगा रखी हो। गूगल ने कुछ ऐसी ऐप्स को ढूंढ निकाला है जो कि आपके सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे कि फेसबुक, व्हाट्सप्प आदि की इनफार्मेशन को एक्सेस कर सकती है। गूगल ने इन्हे Tizi ऐप्स नाम दिया है। यह ऐप बिना यूजर की जानकादि के फोटोज आदि को एक्सेस कर सकती है और फोन के डिस्प्ले को ऑन कर सकती है।

Google ने लांच की नई Datally ऐप, बचाएगी आपका मोबाइल डेटा

Tizi एक फूली फीचर्ड बैकडोर है जो कि सोशल मीडिया एप्लीकेशंस से डेटा को चुराने के लिए स्पाईवेयर को फोन में इनस्टॉल कर सकती है। Google ने एक सिक्योरिटी ब्लॉग पोस्ट में कहा कि इन ऐप्स को सितंबर 2017 में खोजा गया जो कि आपके फोन के डेटा को चुरा सकती है।

Google ने Google Play Store से Tizi ऐप को हटाने के लिए और इन से अफेक्टेड डिवाइसेज को सूचित करके तत्काल कार्रवाई की। सर्च इंजन ने भी डेवलपर के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया है।

ड्यूल रियर कैमरा के साथ Panasonic Eluga C हुआ लांच

सिक्योरिटी ब्लॉग पोस्ट से पता चलता है कि Tizi  ऐप के पिछले वर्जन में “रूटिंग” कैपेब्लिटी नहीं थीं। हालांकि, ऐप ने एक सॉफ़्टवेयर अपडेट के साथ इन कैपेब्लिटीज को प्राप्त कर लिया, जिसके बाद यह यूजर्स की  पर्सनल इनफार्मेशन को डिवाइसेज से चोरी करने लगी।

ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक, Tizi  फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, Viber, स्काइप, लिंक्डइन, और टेलीग्राम जैसे लोकप्रिय सोशल मीडिया ऐप से “सेंसिटिव डेटा  चुरा रही है।”

सिक्योरिटी के लिए फेसबुक जल्दी ही मांग सकता है आपसे आपकी फोटो

इतना ही नहीं Tizi ऐप में एक कमर्शियल स्पाइवेयर की बैकडोर कैपेब्लिटीज है और यह व्हाट्सएप, Viber और स्काइप से कॉल रिकॉर्ड कर सकता है, एसएमएस संदेशों को भेज और प्राप्त कर सकता है, और कैलेंडर ईवेंट, कॉल लॉग, कांटेक्ट, फोटो, वाई-फाई एन्क्रिप्शन Key को एक्सेस कर सकता है।

पोस्ट में कहा गया है, “Tizi ऐप्स, डिवाइस की स्क्रीन पर पिक्चर को डिस्प्ले किए बिना एम्बिएंट ऑडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं और पिक्चर भी ले सकते हैं”

लेकिन अच्छी बात यह है कि गूगल ने इन ऐप्स के द्वारा अफेक्टेड डिवाइसेज को अप्रैल 2016 के बाद कुछ नए सॉफ्टवेयर कोड के माध्यम से इन  vulnerabilities से छुटकारा दिलाया है।

गूगल की सिक्योरिटी पोस्ट में यह भी बताया गया है कि यदि Tizi ऐप्स डेटा को नहीं चुरा पाती हैं तो यह सभी पैच्ड का सहारा लेती है और कुछ एक्शन्स के जरिए यूजर से हाई लेवल परमिशन एक्सेस कर सकती है।

वोडाफोन ने पेश किया रेड टुगेदर ऑफर, मिलेगा 20 प्रतिशत तक एक्स्ट्रा डाटा







प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

قالب وردپرس

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें