यूपी में BJP सांसद और विधायक के बीच सरेआम 'तू तू-मैं मैं', चप्पल निकालने की आई नौबत

0


नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में बीजेपी सांसद और विधायक के बीच शनिवार को कदर तनातनी हुई कि नौबत चप्पल दिखाने तक की आ पहुंची. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक जरूरतमंदों को कंबल बांटने के कार्यक्रम में बीजेपी सांसद रेखा अरुण वर्मा और बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी के बीच झगड़ा हो गया. बात बढ़ने पर दोनों जनप्रतिनिधियों के समर्थक आपस में भिड़ गए, जिसमें कई कार्यकर्ता घायल भी हुए हैं. बताया जा रहा है कि विवाद बढ़ने पर सांसद रेखा वर्मा ने अपनी चप्पल निकाल कर दूसरे पक्ष के लोगों पर वार करने की कोशिश करती दिखीं. मामला बिगड़ने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों का शांत कराया. हालांकि किसी भी पक्ष की ओर से शिकायत नहीं मिलने के चलते कोई मुकदमा नहीं दर्ज किया गया है.

इस वजह से हुआ झगड़ा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीतापुर जिले में महोली तहसील के सभागार में सांसद रेखा वर्मा को कंबल बांटना था. कार्यक्रम के दौरान ही विधायक शशांक त्रिवेदी अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंच गए. कंबल बांटने का क्रेडिट लेने के फेर में दोनों पक्षों के बीच तू-तू मैं मैं शुरू हो गई. इस दौरान विधायक शशांक के समर्थकों ने सांसद के बेटे अनमेश वर्मा की पिटाई कर दी. 

ये भी पढ़ें: योगी मंत्रिमंडल में हो सकता है बदलाव, कई मंत्रियों के छिन सकते हैं विभाग, कई जिलाध्‍यक्षों की होगी छुट्टी!

नाराज सांसद ने गुस्से में आकर अपनी चप्पल निकाल लीं और विधायक पर हमला करने को आगे बढ़ी. हालांकि वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने उन्हें ऐसा करने से रोक लिया.


यूपी के सीतापुर में चप्पल उठाकर हमला करती दिखीं बीजेेेेपी सांसद रेखा वर्मा. 

एसडीएम की मौजूदगी में हुए पूरा बवाल
सांसद और विधायक के बीच जब महोली तहसील में झगड़ा हो रहा था, उस वक्त एसडीएम भी वहां मौजूद थे. सांसद रेखा वर्मा ने एसडीएम को धमकी दी कि आगे से ऐसा हुआ तो वह उनका ट्रांसफर करा देंगी. सब डिविजनल मजिस्ट्रेट डीपी सिंह ने बताया कि सांसद और विधायक में समझौता हो गया है और किसी पक्ष ने कोई एफआईआर नहीं कराई है. 

ये भी पढ़ें: दलितों के बिना हिंदू धर्म की कल्पना नहीं की जा सकती: योगी आदित्यनाथ

विधायक शशांक के गनर पर आरोप है कि उसने सांसद रेखा वर्मा के बेटे के साथ मारपीट की है. इसी बात से सांसद रेखा वर्मा नाराज हो गईं और मामला बढ़ गया. मामला शांत होने पर विधायक और सांसद समर्थकों ने कहा कि यह विवाद उनके बीच नहीं कंबल लेने आए लाभार्थियों के बीच हुई थी.



प्रेस२४ न्यूज़ मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड – कोटगाड़ी न्यूज़ & मीडिया नेटवर्क

Source link

शायद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें