पाकिस्तान ने की आतंकी घुसपैठ कराने की बड़ी कोशिश, सुरक्षा बलों ने दिया मुंहतोड़ जवाब

1



श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म होने के बाद बौखलाया पाकिस्तान अपनी औछी हरकत पर उतर आया है। पाकिस्तान ने सीमा पर आतंकियों को लगातार घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है।
जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ कराकर आतंकी हमलों को अंजाम देना और लोगों को भड़काना चाहता है। हालांकि भारतीय सेना की मुस्तैदी ने हर बार पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम किया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार को पाकिस्तान ने घुसपैठ करने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया।
पाकिस्तानी राजदूत का बड़ा खुलासा, पाक सेना को अफगान सीमा से हटाकर LoC पर तैनात किया जा सकता है
सूत्रों के मुताबिक, मंगलवार की रात को जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकवादियों ने घुसपैठ करने की कोशिश की थी। घुसपैठियों की मदद के लिए पाकिस्तानी सेना ने सीजफायर तोड़ते हुए भारी गोलीबारी की। हालांकि भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया और पाकिस्तान के मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया।
आपको बता दें कि पाकिस्तान के दो पत्रकारों ने बीते दिनों दावा किया था कि पाकिस्तान आर्मी LoC की ओर बढ़ रही है। इसको लेकर भारतीय सेना पहले से ही किसी भी अनहोने से निपटने के लिए सीमा पर तैयार है।दिल्ली को दहलाने की साजिश
सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी आतंकियों ने दिल्ली को दहलाने की साजिश रची है। हालांकि स्वतंत्रता दिवस के समारोह से पहले ही सेना और बीएसएएफ ने भारत-पाक सीमा के आसपास कड़ी चौकसी बढ़ा दी है।
जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में पुलिस पूरी सतर्कता बरत रही है। राज्य गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर को लेकर केंद्र के फैसले को ध्यान में रखते हुए राज्य में खास प्रबंध किए गए हैं।
लद्दाख की सीमा के पास पाकिस्तान ने तैनात किए लड़ाकू विमान, अलर्ट पर भारतीय सेना
एक आईएएस अधिकारी ने बताया कि केंद्र सरकार से अलर्ट मिला है और स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए हम विशेष सुरक्षा इंतजाम कर रहे हैं। राज्य के अन्य सभी हिस्से में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। बता दें कि राजधानी दिल्ली में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और हर गतिविधि पर निगरानी रखी जा रही है।

ये भी पढ़े
1 की 702



Source link

قالب وردپرس

टिप्पणियाँ

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More