जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बयान, 15 अगस्त के बाद प्रतिबंधों में मिलेगी ढील

1



नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद माहौल अब तक तनावपूर्ण है। घाटी में कई तरह की पाबंदियां लगी हुई हैं। हालांकि, जम्मू में राहत मिली है लेकिन कश्मीर में अब भी सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी है। इसी बीच जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि 15 अगस्त के बाद प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी।
एक अंग्रेजी वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में सत्यपाल मलिक ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के बाद पाबंदियों में ढील ती जाएगी। लेकिन, इंटरनेट और फोन सेवा बहाल में होने में अभी कुछ दिन और लग सकते हैं। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के बाद आवागमन पर लगाई गई पाबंदी में ढील दी जाएगी।
लेकिन, सुरक्षा के मद्देनजर दूसरी सेवाएं बहाल होने में अभी वक्त लगेगा। राज्यपाल ने फोन और इंटरनेट को युवाओं को गुमराह करने और भड़काने का हथियार बताया है। उन्होंने कहा कि हम दुश्मन को वह हथियार तब तक नहीं देना चाहते जब तक की सारी चीजें सामान्य न हो जाएं।
पढ़ें- राज्यपाल मलिक के न्योते पर बोले राहुल, ‘हमारे डेलिगेशन को कश्मीर आने दें’
 गवर्नर मलिक ने आश्वासन दिया है कि सात से दस दिनों में घाटी में स्थिति सामान्य हो जाएगी और फिर धीरे-धीरे संपर्क के साधन बहाल होने लगेंगे। राज्यपाल के इस बयान से प्रतीत हो रहा है कि अब स्थिति सामान्य होने लगी है और जल्द ही घाटी के लोग सभी सुविधाओं के लुत्फ उठाने लगेंगे।
वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर एक बार फिर तंज कसते हुए मलिक ने कहा कि उन्हें अब तक जानकारी का अभाव है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी सीमा पर प्रोपोगैंडा के आधार पर बातें कर रहे हैं। इतना ही नहीं राज्यपाल ने राहुल गांधी को भेज निमंत्रण को भी वापस ले लिया है।
पढ़ें- जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने पाकिस्तान को दी चेतावनी- दुस्साहस का करारा जवाब मिलेगा
गौरतलब है कि दो दिन पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था कि हम राहुल गांधी के लिए विमान भेजेंगे ताकि वो जम्मू-कश्मीर आकर स्थिति का जायजा लें। इस पर राहुल ने कहा था कि हमें विशेष विमान की नहीं बल्कि वहां घूमने-फिरने की आजादी चाहिए। साथ ही विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को भी जम्मू-कश्मीर आने की इजाजात राहुल ने मांगी थी।
 

ये भी पढ़े
1 की 702



Source link

قالب وردپرس

टिप्पणियाँ

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More